नई दिल्ली: राजस्थान में सियासी संकट जारी है. कांग्रेस सरकार में मुश्किल में है. हालांकि फिलहाल कहा जा रहा है कि सचिन पायलट से कांग्रेस नेतृत्व की बात हो गई है, कुछ शर्तों पर वह मान गए हैं. प्रियंका गांधी ने सचिन पायलट से बात की है, लेकिन स्थितियां बार-बार बदल रही हैं. इस बीच इस पूरे सियासी ड्रामे के बीच एक ऐसे शख्स ने एंट्री की, जो कांग्रेस के लिए पहले भी बड़ी मुश्किल बन चुका है. Also Read - बागियों के खिलाफ कांग्रेस विधायकों की नाराजगी स्वभाविकः गहलोत

पहले भी मुश्किल बन चुके हैं ज़फर इस्लाम
ये शख्स कोई और नहीं बल्कि बीजेपी प्रवक्ता ज़फर इस्लाम (Zafar Islam) हैं. ज़फर इस्लाम वही शख्स हैं, जिन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) को बीजेपी में ले जाने की अहम भूमिका निभाई थी. ज़फर इस्लाम (Zafar Islam) को ज्योतिरादित्य सिंधिया और बीजेपी के आलाकमान के बीच सूत्रधार माना गया गया था. Also Read - राहुल, प्रियंका से मिलने के बाद जयपुर पहुंचे सचिन पायलट, बोले- पार्टी के भीतर विचार व्यक्त करना विद्रोह नहीं

सचिन पायलट से साधा संपर्क
अब जब सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने कांग्रेस से बगावती तेवर दिखाए हैं तो, ज़फर इस्लाम फिर से सक्रिय हुए हैं. बताया जा रहा है कि ज़फर इस्लाम ने आज सचिन पायलट से संपर्क किया. और बातचीत कर संभावनाएं तलाशने की कोशिश की. इससे पहले सचिन पायलट ने ज्योतिरादित्य सिंधिया से दिल्ली में मुलाक़ात की थी, कल शाम में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सचिन पायलट से सहानुभूति दिखाते हुए ट्वीट भी किया था. एक दिन पहले ही कहा जा रहा था कि सचिन पायलट बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) के संपर्क में हैं और जल्द ही बीजेपी में शामिल हो सकते हैं, हालांकि अब तक ये बात कयास तक ही सीमित है. सचिन पायलट कह चुके हैं कि वह बीजेपी में शामिल होने नहीं जा रहे हैं. हालाँकि उन्होंने ये भी कहा कि अशोक गहलोत (Ashok Gahlot) की सरकार अल्पमत में है. Also Read - बागी विधायकों का दिल जीतने की कोशिश करेंगे अशोक गहलोत, बोले- यह मेरी जिम्मेदारी है

बीजेपी हालात पर रख रही नज़र
बीजेपी बार-बार ये कह रही है कि हम राजस्थान की सियासी हलचल पर नज़र रख रहे हैं. जबकि कांग्रेस आरोप लगा रही है कि बीजेपी खरीद फरोख्त करने की कोशिश कर रही है. आज चल रही सियासी हलचल के बीच आयकर विभाग ने अशोक गहलोत के करीबी विधायकों के यहाँ छापेमारी भी की है. इस बीच अशोक गहलोत ने शक्ति प्रदर्शन किया और बहुमत होने का दावा किया है. कांग्रेस ने अपने सभी विधायकों को एक होटल में शिफ्ट कर दिया है.

प्रियंका गांधी की भी एंट्री
इस बीच इस पूरे सियासी खेल में प्रियंका गांधी ने भी एंट्री की है. प्रियंका गांधी ने सचिन पायलट से बात की और कई मसलों पर चर्चा हुई. कहा ये भी जा रहा है कि प्रियंका और सचिन पायलट के बीच कुछ सार्थक बात हुई है. सचिन को राजस्थान सरकार में कुछ और विभाग दिए जाने के साथ ही उनके करीबी विधायकों को मंत्री बनाए जाने की बात हो रही है, जिस पर कांग्रेस सहमत बताई जा रही है. बहरहाल, राजस्थान में अभी सियासी संकट थमा नहीं है.