जयपुर. राजस्थान में बेरोजगार युवाओं को मार्च से बेरोजगारी भत्ता मिलना शुरू हो जाएगा. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बृहस्पतिवार को यह घोषणा की. राजस्थान विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि बेरोजगार युवाओं को 3000 रुपए तथा युवतियों को 3500 रुपए भत्ता मिलेगा. आधिकारिक सूत्रों के अनुसार यह योजना एक फरवरी से लागू हो जाएगी. पैसा मार्च महीने से मिलेगा. इसका फायदा राज्य के लगभग एक लाख शिक्षित युवाओं को होगा. प्रदेश सरकार द्वारा दिए जाने वाले लड़कों और लड़कियों के भत्ते में 500 रुपए का अंतर रखा गया है.

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में राज्य के बेरोजगार युवाओं को 3500 रुपए तक बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया था. उन्होंने कहा, ‘‘एक मार्च से सबको 3500 रुपए तक का भत्ता मिलेगा. लड़कों को 3000 रुपए और लड़कियों को 3500 रुपए भत्ता मिलेगा.’’

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि उनकी पिछली सरकार ने भी बेरोजगारी भत्ते के रूप में 600 रुपए की आर्थिक प्रोत्साहन राशि देनी शुरू की थी. लेकिन अब हमने जन घोषणा पत्र में कहा है कि 600 रुपए के बजाय 3500 रुपए देंगे. आपको बता दें कि कांग्रेस पार्टी ने हाल में हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के दौरान किसानों का कर्ज माफ करने, गौशाला बनाने और बेरोजगारी भत्ता देने जैसी कई घोषणाएं की थीं. इन्हीं घोषणाओं के मद्देनजर मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में पार्टी की सरकार बनते ही वहां के किसानों के लिए कर्जमाफी की घोषणाएं तत्काल की गईं. राजस्थान में बेरोजगारी भत्ता देने की स्कीम पर अब अमल किया जा रहा है.

(इनपुट – एजेंसी)