जयपुर: राजस्थान के नागौर जिले के ताउसर गांव में रविवार को अतिक्रमण हटाने गए प्रशासन के दल पर अतिक्रमणकारियों के हमले में जेसीबी के ड्राइवर की मौत हो गई, जबकि प्रशासन और पुलिस के करीब पांच वाहन क्षतिग्रस्त हो गए. उच्चतम न्यायालय और उच्च न्यायालय के आदेशों का पालन करते हुए रविवार को प्रशासन का दल अतिक्रमण हटाने गया था, जहां बंजारा परिवारों ने पहले जेसीबी मशीन पर पत्थरबाजी की और जब चालक बचाव के लिए भागा तो भीड़ ने उससे मारपीट की. घायल 40 साल के ड्राइवर फारूख को इलाज के लिए एक अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई. इसस मामले में दो विधायकों समेत 300 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. तनाव को देखते हुए भारी संख्‍या में पुलिस बल तैनात किया गया है.

जम्‍मू-कश्‍मीर: श्रीनगर के सचिवालय में आजादी के बाद पहली बार लहराया त‍िरंगा

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) सरजीत सिंह ने बताया कि इस मामले में मेडता सिटी विधायक इंद्रा बावरी और उनके पति, भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग सहित करीब 300 लोगों के खिलाफ राजकीय कार्य में बाधा डालने, सरकारी वाहनों को क्षतिग्रस्त करने और लोगों को उकसाने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है.

एडिशनल एसपी ने बताया कि ताउसर गांव में करीब 79 बंजारा परिवारों ने एक से डेढ़ किलोमीटर सरकारी जमीन पर कब्जा कर पक्के घर बना रखे हैं. इस मामले में सुप्रीम और हाईकोर्ट के आदेशों का पालन करते हुए रविवार को प्रशासन का दल अतिक्रमण हटाने गया था, जहां बंजारा परिवारों ने पहले जेसीबी मशीन पर पत्थरबाजी की और जब चालक बचाव के लिये भागा तो भीड़ ने उससे मारपीट की.

ITBP हवलदार की सरकार को धमकी, लिखा- डकैत ‘पान सिंह तोमर’ बनने के लिए नहीं लेनी पड़ेगी ट्रेनिंग

एडिशनल एसपीने बताया कि चालक फारूख को इलाज के लिए एक अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई. सिंह ने बताया कि मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई है.

योगी सरकार का माफिया, अपराधियों के शस्त्र लाइसेंस रद्द करने का फैसला, ये भी हो सकते हैं घेरे में