जयपुर: राजस्थान के निकाय चुनाव में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने शानदार प्रदर्शन किया है. 49 निकायों के 965 वार्डों में जीत के बाद पार्टी नेताओं ने 30 में कांग्रेस का बोर्ड बनने की उम्मीद जताई है. उसके पास 20 निकायों में ही स्पष्ट बहुमत है जबकि बाकी में उसे निर्णायक निर्दलीय पार्षदों का समर्थन मिलने की उम्मीद है. वहीं भाजपा के कुल 736 पार्षद जीते हैं और उसके नेताओं का कहना है कि पार्टी 15 निकाय में बोर्ड बनाने की स्थिति में है. इनमें से छह में उसके पास स्पष्ट बहुमत है.

 

परिणाम को मोटे तौर पर देखा जाए तो 20 में कांग्रेस जबकि छह में भाजपा के पास स्पष्ट बहुमत है जबकि बाकी 23 निकायों में निर्दलीय उम्मीदवार बहुमत में हैं. यानी वहां बोर्ड बनना इस बात पर निर्भर करेगा कि निर्दलीय किसके पक्ष में जाते हैं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चुनाव परिणामों पर खुशी जाहिर करते हुए इसे उम्मीदों के अनुरूप बताया है. संवाददाताओं से बातचीत में गहलोत ने कहा कि यह खुशी की बात है कि लोगों ने सरकार के प्रदर्शन को देखते हुए जनादेश दिया है.

20 नगर निकायों में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत
मतदाताओं ने 20 नगर निकायों में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत दिया है तथा सत्तारूढ़ पार्टी निर्दलीय उम्मीदवारों की मदद से 10 और निकायों में बोर्ड बनाने के लिये आश्वस्त है. कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि स्थानीय निकायों में कांग्रेस पार्टी की यह बहुत बड़ी जीत है. उन्होंने कहा कि 49 निकायों में से कांग्रेस 30 निकायों में बोर्ड बनायेगी. उन्होंने जीत का श्रेय कार्यकर्ताओं और नेताओं देते हुए कहा कि इन सभी ने कांग्रेस सरकार के प्रदर्शन का बिना थके प्रचार किया. हमारे नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पिछले सात महीनों में कड़ी मेहनत की और इसका परिणाम है कि जनता ने कांग्रेस पर विश्वास जताया.

कांग्रेस के 965, भाजपा के 736, बसपा के 16, माकपा के 3, NCP के दो प्रत्याशी जीते
उन्होंने कहा कि निकाय चुनाव के परिणामों से यह मिथक टूट गया कि शहरी क्षेत्र में भाजपा मजबूत है. राज्य निर्वाचन विभाग के अनुसार कुल 2,105 वार्ड में से कांग्रेस के 965, भाजपा के 736, बसपा के 16, माकपा के तीन व एनसीपी के दो प्रत्याशी जीते हैं. जबकि 385 वार्डों में निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है. राज्य के नगरीय विकास व स्वायत्त शासन मंत्री शान्ति धारीवाल ने कहा है कि राज्य के शहरी क्षेत्रों की जनता ने मुख्यमंत्री गहलोत की शहरी विकास की नीतियों पर मोहर लगायी है तथा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मजबूती के साथ एकता का परिचय दिया है. उन्होंने कहा कि नगरीय निकायों के चुनावों में कांग्रेस 30 से अधिक नगरीय निकायों में बोर्ड बनाने जा रही है.

15 निकायों में बोर्ड बनाने की स्थिति में BJP
भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने कहा कि पार्टी कुल 15 निकायों में बोर्ड बनाने की स्थिति में है जिनमें से छह निकायों में उसे स्पष्ट बहुमत मिला है. जो परिणाम सामने आए हैं उनके अनुसार 23 नगरपालिकाओं में बोर्ड बनाने में निर्दलीय उम्मीदवारों की अहम भूमिका होगी. झुंझुनूं जिले के पिलानी नगरपालिका में कुल 35 वार्डो में से 30 वार्डो में निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की है. भाजपा ने तीन और कांग्रेस ने दो वार्ड पर जीत दर्ज की है. उल्लेखनीय है कि राजस्थान के 33 में से 24 जिलों में 49 स्थानीय निकायों में चुनाव शनिवार को हुए थे. इनमें तीन नगर निगम, 18 नगर परिषद और 28 नगर पालिकाएं शामिल है.