Rajasthan News: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ‘पधारो म्हारे देस डिजिटल कोविड रिलीफ कॉन्सर्ट सीरीज’ का उद्घाटन किया. इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि, ‘यह पहल कई महीनों तक नियमित आजीविका से वंचित कलाकार समुदाय का समर्थन करेगी. कई लोक कलाकार आजीविका के लिए पूरी तरह से अपनी कला पर निर्भर हैं. कोरोना वायरस संकट के दौरान ऐसे लोक कलाकारों का समर्थन करने के लिए यह एक अनूठी अवधारण है. इस तरह की पहल राज्य में कला शैली के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है और वर्चुअल पर्यटन को बढ़ावा दे सकती है.’ Also Read - अंडरगारमेंट में दुबई से छिपाकर 31 लाख का सोना लाई महिला, जयपुर एयरपोर्ट पर हुई गिरफ्तार

राज्यभर के कई बड़े कलाकार होंगे शामिल
बता दें कि यह कॉन्सर्ट राजस्थान राज्य के लोक कलाकारों का समर्थन करती है. कॉन्सर्ट सीरीज में भाग लेने वाले कलाकारों में महेशा राम एवं समूह-जैसलमेर के मेघवाल; मूमल के लिए प्रसिद्ध बापू खान मिसारी; जोधपुर के लंगास, बून्दू खान और बैंड; चाला मामा प्रोजेक्ट के थानू खान और तारिफ खान; जोधपुर से कालबेलियों की गायन अनुभूति, सुगनी देवी; मेहबूब खान लांगा एवं अन्य शामिल हैं. कॉन्सर्ट सीरीज सीरीज राजस्थान की गायिका मनीषा अग्रवाल की संस्था ‘अर्पण फाउन्डेशन’ की पहल है. Also Read - राजस्थान: मंकर संक्राति पर इस बार कोरोना के कारण नहीं होगा बहुचर्चित काइट फेस्टिवल

अर्पण फाउंडेशन ने इस मौके पर कहा कि, ‘इस पहल का समर्थन करने के लिए हम मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आभारी हैं. उन्होंने हमेशा राज्य की कला एवं संस्कृति को बढ़ावा दिया है तथा उनका समर्थन हमारे एवं लोक कलाकारों के लिए बहुत उत्साहजनक है. इस सीरीज में जोधपुर, जैसलमेर एवं बाड़मेर के सुदूर भागों के 70 से अधिक कलाकार प्रदर्शन में शामिल होंगे.’ Also Read - आचार संहिता के कारण ना मिला रोजगार और ना पकड़ी विकास ने रफ्तार

(इनपुट: IANS)