Night Curfew News: कोरोना वायरस (Coronavirus) के कम होते मामले को देखते हुए राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot) ने नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) को खत्म कर दिया है. इसके साथ-साथ कई छूट भी दिये गए हैं. मुख्यमंत्री ने कोरोना वायरस की समीक्षा बैठक के बाद यह फैसला लिया. मुख्यमंत्री इसके साथ-साथ यह भी कहा कि हमें कोरोना के सभी प्रोटोकॉल का पालन करना होगा नहीं तो संक्रमितों की संख्या फिर बढ़ सकती है.Also Read - घूमिये राजस्थान का वो गांव जो 200 साल पहले हो गया था खाली, रहस्य से भरी हुई है यहां की कहानी

Also Read - संदिग्ध युवक का तीन दिन बाद भी नहीं लगा सुराग, बॉर्डर पार जाने की आशंका से सुरक्षा एजेंसियां सतर्क

अशोक गहलोत ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है. गहलोत ने ट्वीट किया, ‘निवास पर कोविड-19 समीक्षा बैठक में प्रदेश में Night Curfew समाप्त करने एवं कुछ छूट चरणबद्ध रूप में देने का निर्णय लिया है. हालांकि हेल्थ प्रोटोकॉल्स को अपनाना आवश्यक होगा, अन्यथा पुनः संक्रमित संख्या बढ़ सकती है. यह नौबत नहीं आनी चाहिए कि पुनः सख्ती करनी पड़े. Also Read - आश्रम की खुदाई में निकला 150 साल पुराना गाय का घी, महक और ताजगी आज भी बरकरार, देखने वालों की उमड़ी भीड़

राज्य सरकार ने 21 नवंबर को जयपुर, जोधपुर, कोटा, बीकानेर, उदयपुर, अजमेर, अलवर और भीलवाड़ा जिला मुख्यालय सहित 8 जिलों में रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया था. बाद में कर्फ्यू को नागौर, पाली, टोंक, सीकर और गंगानगर के पांच और जिलों के मुख्यालय तक बढ़ा दिया गया.

नवंबर में राजस्थान में कोविड के रोजना मामले 3,000 से अधिक हो गई थी. हालांकि ताजा आंकड़े बताते हैं कि रविवार को मजह 261 नए मामले सामने आए हैं. बता दें कि राजस्थान (Rajasthan) में बीते 10 महीने से बंद स्कूल आज फिर से खुल गए. स्कूलों में हर कमरे में 50 प्रतिशत बैठने की क्षमता है और छात्र अपने माता-पिता की सहमति से कक्षाओं में भाग ले रहे हैं. हालांकि, पहले दिन बहुत कम संख्या में छात्र स्कूल पहुंचे.

बता दें कि राजस्थान में कोरोना संक्रमितों का आकंड़ा 3,15,181 है. यहां कोरोना से अब तक 2,747 लोगों की मौत हो चुकी है. राज्य में अभी 5,050 एक्टिव केस हैं और 3,07,384 इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं.