जयपुर: अब आधार के डेटा के जरिए अपराधियों की पहचान करने के लिए उपयोग किया जा सकता है. राजस्थान पुलिस प्रदेश में आधार डाटा के जरिए अपराधियों, संदिग्धों, शिकायतकर्ताओं और लापता लोगों की पुष्टि की संभावनाओं को तलाश कर रही है. पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इसके लिए राज्य के अपराध रिकार्ड ब्यूरो ने राजस्थान के सूचना तकनीक विभाग से आधार डाटा के बारे में संबंधित एजेंसियों से बायोमैट्रिक मशीनें पुलिस थानों में उपलब्ध कराने का आग्रह किया है. Also Read - Rajasthan News: करने गई थी पति की शिकायत, थाने में सब-इंस्पेक्टर ने तीन दिन तक किया दुष्कर्म

राजस्थान के अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के एसपी पंकज चौधरी ने बताया कि सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग से एक हजार बायोमैट्रिक मशीनों उपलब्ध कराने को कहा है. इन मशीनों को प्रदेश के पुलिस थानों और पुलिस के अन्य कार्यालयों में स्थापित की जाएगी. इससे संदिग्धों और अपराधियों की अंगुलियों के निशान के जरिए आधार की विस्तृत जानकारी हासिल की जा सकेगी. Also Read - RPSC SI Recruitment 2021: राजस्थान पुलिस में SI के 859 पदों पर आवेदन करने के बचे हैं कुछ दिन, जल्द करें अप्लाई 

एसपी पंकज चौधरी ने कहा कि विभाग अपराधियों और संदिग्धों के अंगुलियों के निशान के जरिए आधार के डाटा तक पहुंच सकेगा. उन्‍होंने बताया कि पुलिस थानों में ऐसे संदिग्ध और अपराधियों की आधार की विस्तृत जानकारी को रखा जाएगा. पुलिस कई अपराधियों और संदिग्धों को पकड़ती है, लेकिन कभी-कभी ये लोग अपनी पहचान के लिए गुमराह करने में कामयाब रहते है. इस प्रक्रिया से ऐसे लोगों की पहचान के प्रमाणीकरण में मदद मिलेगी. Also Read - Pawri Ho Rahi Hai: राजस्थान पुलिस का मजेदार Video, कहा- ये हमारी लट्ठ और यहां पावरी हो...

क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के एसपी ने बताया कि इस मुहिम से पुलिस को ऐसे बच्चे जो लापता हो जाते है और बाद में मिल जाते या जिन्हें बचा लिया जाता है, लेकिन सही तरीके से पहचान की विस्तृत जानकारी नहीं होने पर मुश्किल होती है, उसमें मदद मिलेगी. उन्होंने बताया कि ऐसे कई मामले हैं, जिनमें बच्चों का रेलवे स्टेशन अथवा अन्य किसी स्थान से अपहरण कर उन्हें गैर कानून काम में झोंक दिया जाता है और जब पुलिस उन्हें बचा लेती है तो उनकी पहचान की पुष्टि करना पुलिस के लिए एक चुनौती बन जाती है. आधार नंबर से बायोमैट्रिक डाटा के जरिए प्रामाणिक जानकारी जुटाई जा सकती है. (इनपुट एजेंसी)