नई दिल्ली: राजस्थान का सियासी घमासान थमता दिख रहा है. कांग्रेस सरकार पर जो संकट छाया था, वह भी फिलहाल नहीं है. सचिन पायलट (Sachin Pilot) बैकफुट पर दिख रहे हैं. इस बीच राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gahlot) ने इसे पूरे सियासी तूफ़ान को लेकर कई बातें कही हैं. गहलोत ने सचिन पायलट पर भी निशाना साधा है. Also Read - सचिन पायलट की लैंडिंग के बाद आज से शुरू होगा विधानसभा सत्र, कांग्रेस लाएगी विश्वासमत प्रस्ताव, जानें भाजपा की रणनीति

अशोक गहलोत ने कहा कि अच्छी अंग्रेजी बोला, मीडिया से अच्छे से बात करना और हैंडसम हो जाना ही सब कुछ नहीं है. आपके दिल में देश के लिए क्या है, आपकी विचारधारा, सिद्धांत और कमिटमेंट बहुत मायने रखता है. Also Read - PM नरेंद्र मोदी का नया रिकॉर्ड, सबसे लंबे समय तक रहने वाले पहले गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री बने

गहलोत ने कहा कि मैं 40 साल से राजनीति में हूं. मुझे नई पीढ़ी से प्यार है. वो भविष्य हैं. अशोक गहलोत ने कहा कि जयपुर में खरीद-फरोख्त की तैयारी हुई. मेरे पास इसके पर्याप्त सुबूत हैं. हमें अपने लोगों को 10 दिन तक होटल में रखना पड़ा. अगर हम ऐसा नहीं करते तो यहाँ वही होता जो मानेसर में करने की कोशिश की गई. Also Read - राजस्थान: विश्वास मत लाएगी कांग्रेस, अशोक गहलोत बोले- हम 'इनके' बिना भी बहुमत में थे, लेकिन अपने तो अपने होते हैं

बता दें कि सचिन पायलट ने खुलेआम बगावत कर दी थी. उन्होंने यहाँ तक कह दिया था कि गहलोत सरकार अल्पमत में है. इसके बाद जमकर चली रस्साकशी के बाद कांग्रेस ने आक्रामक रुख अपनाते हुए सचिन पायलट को प्रदेश अध्यक्ष और डिप्टी सीएम पद से हटा दिया. इसके बाद सचिन ने कहा कि वह कांग्रेस में ही हैं और किसी भी कीमत पर बीजेपी में शामिल नहीं होने जा रहे हैं. फिलहाल राजस्थान सरकार पर संकट के बादल हट गए हैं.