जयपुर: राजस्थान के राजनीतिक हलकों में सोमवार को सचिन पायलट द्वारा किए गए विद्रोह से उत्पन्न हुए संकट के समाधान को लेकर खासी चर्चा रही. कांग्रेस सूत्रों ने दावा किया है कि पायलट खेमा राज्यसभा सांसद के.सी. वेणुगोपाल से मिलेगा और यहां तक कि वे कांग्रेस नेता राहुल गांधी से भी मुलाकात करेंगे. कांग्रेस के सूत्रों ने कहा है कि पार्टी के अनुभवी नेता अहमद पटेल उस मुद्दे को सुलझाने के लिए काम कर रहे हैं, जिसने पायलट खेमे की बगावत से राज्य में अशोक गहलोत सरकार का अस्तित्व को खतरे में पड़ गया था.Also Read - कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलीं पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी, राहुल गांधी भी रहे मौजूद

कांग्रेस ने इस वाकये के बाद पायलट को उपमुख्यमंत्री और राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष पद से बर्खास्त कर दिया था. रविवार की रात जैसलमेर के एक होटल में ठहरे गहलोत खेमे के कांग्रेस विधायकों की बैठक में विद्रोहियों को पार्टी में वापस लेने को लेकर मिश्रित विचार सामने आए. कुछ विधायकों ने बागी खेमे के नेताओं को वापस लेने के लिए कहा, वहीं कुछ इसके पक्ष में नहीं थे. Also Read - ममता बनर्जी ने कहा- अब 'पूरे देश में खेला होना है', 2024 आम चुनाव PM मोदी बनाम देश होगा

इस बीच राज्य के नेताओं की दिल्ली में चल रही सुगबुगाहट पर भी पैनी नजर है. कांग्रेस के एक वरिष्ठ कार्यकर्ता ने पुष्टि की है कि राजस्थान के कुछ मंत्रियों को पायलट और उनके वफादार विधायकों को फिर से पार्टी से जोड़ने को लेकर बैठक करने के संकेत मिले थे. गौरतलब है कि सचिन पायलट की नाराजगी सबके सामने आ गई थी. इसी कारण सचिन पायलट ने बगावती सुर भी पकड़ लिया था. Also Read - Rajasthan Cabinet Reshuffle Updates: कैबिनेट विस्तार की चर्चा के बीच राजस्थान दौरे पर अजय माकन, जानें ताजा अपडेट्स...