Sachin Pilot May Return in Congress: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने सत्ता के लिए संघर्ष में युवा नेता सचिन पायलट (Sachin Pilot) को बुरी तरह पटखनी दे दी है. उधर, अपने साथियों के साथ सीएम से बगावत करने वाले सचिन पायलट के लिए आगे रास्ते करीब-करीब बंद लग रहे हैं. ऐसे में सचिन पायलट फिर से पार्टी में वापसी (Sachin Pilot May Retun In Congress) चाहते हैं. यह हम नहीं बल्कि पिछले दो-तीन दिन में सचिन पायलट की ओर से आ रहे बयानों और उनके राजनीतिक कदमों से पता चलता है.Also Read - 'नव संकल्पों' से बढ़ेंगी मध्यप्रदेश के कांग्रेसियों की मुश्किलें, इसीलिए मुसीबत बन सकता है एक परिवार, एक टिकट फॉर्मूला

अब इतना तय हो गया है कि सचिन पायलट की बगावत के बावजूद राजस्थान की मौजूदा अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Govt Safe)  सुरक्षित है. राजनीति के माहिर खिलाड़ी अशोक गहलोत ने बड़ी चतुराई से इस पूरे प्रकरण को अपने पक्ष में कर लिया. उन्होंने पार्टी के विधायकों को अपने साथ रखने के साथ ही कांग्रेस नेतृत्व को भी अपने पक्ष में कर लिया और राज्य कांग्रेस में अपने सबसे पड़े प्रतिद्वंद्वी सचिन पायलट को विलेन बना दिया. Also Read - राहुल गांधी को कुमारस्वामी का जवाबः क्षेत्रीय दलों से डर रही है कांग्रेस, इन्हीं के बूते 10 साल तक सत्ता में रही

अब ऐसा लगता है कि सचिन पायलट भी यह बात समझ गए है. उन्होंने संभवतः यह मान लिया है कि वह अशोक गहलोत सरकार को बेदखल करने की अपनी कोशिश में नाकाम हो चुके हैं. तभी तो पिछले दिनों कांग्रेस हाईकमान के विधायक दल की बैठक में शामिल होने और बातचीत से मसला सुलझाने के अनुरोध को दरकिनार करने वाले सचिन पायलट अब अपने रुख में नरमी का संकेत दे रहे हैं. Also Read - चिंतन शिविर: भाजपा को केवल कांग्रेस हरा सकती है, राहुल गांधी के इस बयान पर नाराज हुए क्षेत्रीय दल

दो दिन पहले सचिन ने बाकायदा यह स्पष्ट किया कि वह भाजपा में नहीं जा रहे हैं. फिर उन्होंने कहा कि गांधी परिवार के साथ उनके रिश्ते को खराब करने के लिए उनके बारे में गलत खबरें चलाई जा रही हैं. अब सचिन पायलट ने खुद कांग्रेस के दिग्गज नेता और गांधी परिवार के बेहद करीब पी. चिदंबरम से फोन पर लंबी बातचीत की है. इससे पहले सचिन पायलट ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सुप्रीम कोर्ट के सीनियर वकील अभिषेक मनु सिंघवी से बातचीत कर चुके थे.

पी. चिदंबरम कांग्रेस कार्यसमिति के स्थायी सदस्य हैं. इस बारे में चिदंबरम ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा कि उन्होंने इस बातचीत में सचिन पायलट से यह कहा कि कांग्रेस नेतृत्व ने उन्हें सार्वजनिक तौर पर चर्चा कर मसले के सुलझाने के लिए आमंत्रित किया है. आप इस मौके को निकलने मत दीजिए.

अखबार ने सचिन पायलट के साथ बातचीत कर रहे एक और वरिष्ठ नेता के हवाले से कहा है कि अगर सचिन पायलट लौटना चाहते हैं तो उनकी सम्मानजनक वापसी करवाई जाएगी. उन्होंने कहा कि अगर सचिन पायलट लौटने चाहेंगे तो उनके खेमे के विधायकों के खिलाफ शुरू की गई अयोग्यता का कार्रवाई को भी रोका जा सकता है.