Rajasthan Politics:  राजस्थान में आखिरकार राजनीतिक दंगल की अब समाप्ति हो गई है. अब राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले सचिन पायलट (Sachin Pilot) तीन दिन की चुप्पी के बाद आज गहलोत से मुलाकात करेंगे. अब दोनों के बीच मतभेद के बाद होनेवाली इस पहली मुलाकात में  क्या बातचीत होगी, इसपर सबकी नजर रहेगी. Also Read - राजस्थान: CM अशोक गहलोत ने स्थगित किए एक महीने के सभी व्यक्तिगत मुलाकात कार्यक्रम, जानिए क्यों

राजस्थान में विधानसभा का विशेष सत्र 14 अगस्त से शुरू हो रहा है और उसे लेकर आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक होनेवाली है जिसमें आज दोनों चिर प्रतिद्वंद्वियों, अशोक गहलोत और सचिन पायलट का आमना-सामना हो सकता है. सचिन पायलट करीब एक महीने के सियासी घमासान के बाद वापस लौटे हैं. Also Read - Corona से मुकाबला: यहां CM से लेकर सरकारी कर्मियों का कटेगा वेतन, इन्हें मिलेगी राहत

बता दें कि राजस्थान में सियासी घमासान के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सचिन पायलट ने दिल्ली जाकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात की थी जिसके बाद वे मंगलवार को जयपुर लौटे हैं. कांग्रेस नेतृत्व की ओर से उन्हें भरोसा दिया गया है कि उनकी शिकायतों को दूर किया जाएगा. लेकिन कल उनके जयपुर पहुंचते ही मुख्यमंत्री गहलोत जैसलमेर के लिए निकल गए थे, जहां कांग्रेस के 100 विधायकों को रखा गया था. Also Read - देश के इस राज्य में 30 सितंबर तक कंटेन्मेंट जोन में लागू रहेगा Lockdown, इन चीजों की मिलेगी इजाजत...

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि कांग्रेस विधायक इस राजनीतिक टकराव से परेशान हैं, लेकिन हर किसी को आगे बढ़ना चाहिए. परेशान विधायकों को मैंने  समझाया कि कभी-कभी हमें सहनशील होने की आवश्यकता होती है. मैंने बताया कि यदि हमें राष्ट्र, राज्य और लोगों की सेवा करनी है और लोकतंत्र को बचाना है तो हमें सहना पड़ेगा.

गहलोत ने संवाददाताओं से कहा, “हमें गलतियों को माफ करना होगा और लोकतंत्र की खातिर एकजुट होना होगा. मेरे साथ आज 100 से अधिक विधायक खड़े हुए हैं. यह अपने आप में उल्लेखनीय है.”

बता दें कि गहलोत खेमे के कांग्रेसी विधायक जयपुर लौट आए हैं और वो  फेयरमाउंट होटल में हैं. सियासी बगावत के वक्त भी ये विधायक इसी होटल में ठहरे थे. संभावना जतायी जा रही है कि ये सभी विधायक शुक्रवार को विधानसभा सत्र तक यहीं रहेंगे.