Rajasthan School Reopening: राजस्थान में 1 सितंबर से कक्षा 9वीं से 12वीं तक के स्कूलों को खोला जा रहा है. साथ ही छोटे बच्चों के स्कूलों को खोले जाने को लेकर भी बात शुरू हो चुकी है. हालांकि इस बाबत अभी तक कोई अधिकारिक फैसला नहीं लिया गया है. नीति आयोग ने इसके लिए केंद्रीय शिक्षा मंत्री से सिफारिश की है. नीति आयोग ने अपनी सिफारिश में कहा है कि जिन स्कूलों के 70 फीसदी से अधिक शिक्षक कोरोना की वैक्सीन लगवा चुके हैं वहां प्राइमरी स्कूलों को खोला जा सकता है.Also Read - इस देश में स्कूली बच्चों को कोविड का टीका लगाना शुरू, क्या भारत में भी मिलेगी मंजूरी

बता दें कि राजस्थान के सरकारी स्कूलों के करीब 80-90 फीसदी शिक्षक कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके हैं. ऐसे में अगर नीति आयोग की सिफारिश को केंद्र और राज्य सरकार स्वीकार कर लेती है तो छोटे बच्चों के प्राइमरी स्कूलों को भी जल्द ही खोला जा सकता है. जानकारी के मुताबिक प्राइमरी स्कूलों में 1.59 लाख और माध्यम स्कूलों के 1.56 लाख टीचर्स कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके हैं. Also Read - Rajasthan Lockdown Update: राजस्थान में कोरोना पाबंदियों में मिली ढील, 20 सितंबर से खुलेंगे सभी स्कूल; शादी के लिए नई गाइडलाइन जारी

बाकी शिक्षकों का भी होगा वैक्सीनेशन Also Read - 112 आकांक्षी जिलों में बच्चों को मुफ्त शिक्षा देगा बायजू, NITI आयोग के साथ की साझेदारी

शिक्षा विभाग के मुताबिक निजी स्कूलों में 11 लाख शिक्षक व कर्मचारी कार्यरत हैं. इनमें से 80 फीसदी स्टाफ को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है. वहीं 30-40 फीसदी स्टाफ को वैक्सीन की दूसरी डोज भी लग चुकी है. विभाग का कहना है कि बाकी बचे स्टाफ का भी जल्द ही टीकाकरण किया जाएगा.