जयपुर: कांग्रेस पार्टी ने मंगलवार को कहा कि सचिन पायलट दिग्भ्रमित होकर भाजपा के जाल में उलझ गए और कांग्रेस की सरकार गिराने की साजिश में शामिल हो गए. इसके साथ ही पार्टी ने अपने विधायकों को स्पष्ट तौर पर कहा है कि सरकार व्यक्तियों पर नहीं बल्कि नीतियों व सिद्धांतों पर टिकी है. उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ बगावत करने वाले पायलट व उनके साथ गए दो मंत्रियों को उनके पद से हटा दिया. पायलट को प्रदेशाध्यक्ष पद से भी हटा दिया गया है. Also Read - नई शिक्षा नीति को लेकर कांग्रेस ने सरकार पर साधा निशाना, कहा- मानव विकास और ज्ञान के विस्तार का मूल लक्ष्य है नदारद

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इसकी घोषणा करने से पहले कहा, “हम सब को एक बात का खेद अवश्य है कि राजस्थान के उपमुख्यमंत्री, हमारे युवा साथी सचिन पायलट और कांग्रेस के कुछ विधायक व मंत्री साथी दिग्भ्रमित होकर भाजपा के षडयंत्र के जाल में उलझकर कांग्रेस की सरकार को गिराने की साजिश में शामिल हो गए.” Also Read - Rajasthan Political Crisis: जयपुर में नहीं रहेंगे अशोक गहलोत खेमे के विधायक, भेजे जा रहे इस शहर

सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी ने पिछले कुछ दिन के घटनाक्रम के मद्देनजर खेद व दुख के साथ पायलट व अन्य को पद से हटाने के ये फैसले किए हैं. उन्होंने कहा, “मुझे खेद है कि सचिन पायलट व उनके कुछ मंत्री साथी भाजपा के षडयंत्र में भटक कर कांग्रेस पार्टी की जनता द्वारा चुनी गयी सरकार को गिराने का षडयंत्र और साजिश कर रहे थे.” सुरजेवाला ने कहा, “यह अस्वीकार्य है. यह किसी दल को स्वीकार नहीं हो सकता. इसलिए बड़े दुखी मन व खेद से कांग्रेस पार्टी ने यह फैसला किए हैं.” Also Read - अशोक गहलोत ने बताए हॉर्स ट्रेडिंग के रेट- पहली किस्त 10, दूसरी 15 की, अब और बढ़ गए भाव

इसके साथ ही सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि भाजपा ने राज्य सरकार को गिराने की साजिश की है. उन्होंने कहा, “भाजपा ने एक षडयंत्र के तहत राजस्थान की आठ करोड़ जनता के सम्मान को चुनौती दी. भाजपा ने एक साजिश के तहत राजस्थान की बहादुर जनता द्वारा संपूर्ण बहुमत से चुनी गयी कांग्रेस की सरकार को अस्थिर कर गिराने की साजिश की.” उन्होंने कहा, “भाजपा ने धनबल व सत्ताबल के दुरुपयोग से ईडी व आईटी के दुरुपयोग से कांग्रेस पार्टी और निर्दलीय विधायकों की निष्ठा को खरीदने के प्रयास का नाकाबिले माफी जुर्म किया है.”

सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी ने पिछले दो दिनों में अनेक बार पायलट से संपर्क करने की कोशिश की. उन्होंने कहा, “पिछले 72 घंटे में सोनिया गांधी ने, राहुल गांधी ने, कांग्रेस के आला नेतृत्व ने सचिन पायलट से, हमारे दूसरे साथी मंत्रियों से हमारे विधायकों से लगातार संपर्क करने की कोशिश की.”

कांग्रेस प्रवक्ता ने पार्टी विधायकों व नेताओं को स्पष्ट संकेत देते हुए कहा, “कांग्रेस की सरकार व्यक्तियों पर नहीं टिकी, कांग्रेस की सरकार नीतियों व सिद्धांतों पर टिकी है और कांग्रेस की सरकार राजस्थान की जनता के जनमत पर टिकी है.” उन्होंने कहा, “कांग्रेस की सरकार राजस्थान की सेवा के संकल्प पर टिकी है और पूरे पांच साल तक कांग्रेस की सरकार राजस्थान की जनता की सेवा के लिए दृढ़संकल्पित है.”