जयपुर: राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट और पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने अपने- अपने समर्थकों से शांति और अनुशासन बनाए रखने की अपील की है. कांग्रेस में राज्य के मुख्यमंत्री को लेकर दिल्ली में जारी विचार विमर्श के बीच करौली जिले में कुछ जगह लोगों के इकट्ठा होने की खबरों व तनाव के बीच पायलट ने ट्विटर के जरिए यह अपील की है. दरअसल, दोनों नेताओं के समर्थक काफी उग्र होकर प्रदर्शन कर रहे हैं और अपने -अपने नेता को सीएम बनाने की पुरजोर मांग कर रहे हैं और तेजी नारीबाजी भी की है. दोनों के बीच सीएम पद को लेकर सियासी घमासान जारी है. Also Read - Rajasthan: Jaipur में 26 फीट लंबी सुरंग खोदकर चांदी की चोरी, मास्‍टर माइंड सर्राफा व्‍यापारी समेत 4 अरेस्‍ट

Also Read - अजय माकन की कोशिश रंग लाई, एक साथ आए अशोक गहलोत और सचिन पायलट

गहलोत एवं पायलट का यह बयान ऐसे समय में आया है जब कांग्रेस राज्य में मुख्यमंत्री के नाम को लेकर विचार विमर्श कर रही है . गहलोत एवं पायलट मुख्यमंत्री पद की दौड़ में शामिल हैं . दोनों नेताओं के समर्थक जयपुर में पार्टी के प्रदेश मुख्यालय के बाहर अपने अपने नेता के पक्ष में लगातार नारेबाजी कर रहे हैं. Also Read - अशोक गहलोत-सचिन पायलट एक ही हेलीकॉप्टर में सवार हुए, एकजुट नजर आई कांग्रेस, चर्चा बनी ये तस्वीर

नोटा का 22 सीटों पर सबसे ज्यादा असर, एमपी में BJP-कांग्रेस का ऐसे बिगाड़ा खेल

भगोड़े विजय माल्या ने कांग्रेस नेता पायलट और सिंधिया को दी जीत की बधाई

पायलट ने ट्वीट में लिखा है ‘सभी कार्यकर्ताओं से शांति व अनुशासन बनाए रखने का आग्रह करता हूं. मुझे पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर पूरा विश्वास है. राहुल गांधी और श्रीमती सोनिया गांधी जो फ़ैसला लेंगे, उसका हम स्वागत करेंगे.” पायलट ने लिखा, ”हम सभी कांग्रेस के समर्पित हैं और पार्टी की गरिमा बनाए रखना हम सभी की ज़िम्मेदारी है.”

अशोक गहलोत ने कहा, ”मैं वकर्स को शांति बनाए रखने के लिए अपील करता हूं, उन्होंने बहुत मेहनत की है, जो भी निर्णय लिया जाएगा, वह सभी पर बाध्यकारी होगा. राहुल जी सभी नेताओं से बात कर रहे हैं और परामर्श कर रहे हैं.”

इस बीच राज्य के कुछ जिलों में गुर्जर समुदाय के कुछ लोगों के इकट्ठा होने व तोड़फोड़ करने की भी खबरें हैं. ये लोग पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर रहे थे. हालांकि, पुलिस के मुताबिक, छिटपुट घटनाओं के बावजूद हालात पूरी तरह नियंत्रण में है.

PM मोदी ने कांग्रेस को बधाई दी, कहा- BJP विनम्रता से जनादेश स्वीकारती है

वहीं, करौली के पुलिस नियंत्रण कक्ष के अनुसार नादौती, केमरी, महावीर जी व हिंडौन में कुछ लोग इकट्ठे हुए जिन्हें समझा बुझाकर हटा दिया गया. भरतपुर रेंज की महानिदेशक मालिनी अग्रवाल ने कहा कि हिंडौन में कुछ लोग इकट्ठा हुए और जाम लगाने की कोशिश की लेकिन हालात सामान्य है.

इस बीच विशिष्ट पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) एन.आर. के. रेड्डी ने देर शाम बताया, ”दिन में दौसा, करौली व अजमेर जिले में 20-25 लोग इकट्ठा हुए और नारेबाजी की. दौसा के पाटोली में कुछ लोगों ने जयपुर -आगरा राजमार्ग रोकने की कोशिश की व बेकार पड़े टायर जला दिए. पुलिस ने उन्हें खदेड़ दिया गया. पीपलखेड़ा व हिंडौन में भी थोड़ी देर हंगामा किया गया.”

बांदीकुई में पांच सात लड़के पानी की टंकी पर चढ़ गए, जिन्हें समझा बुझाकर उतारा गया. इसी तरह अजमेर की घूघरा घाटी में कुछ लोगों ने जयपुर अजमेर राजमार्ग को कुछ मिनट के लिए जाम किया. रेड्डी के अनुसार हालात पूरी तरह नियंत्रण में है.