सीकर: राजस्थान के सीकर जिले में कथित तौर पर अहं की खातिर हत्या का एक मामला सामने आया है जिसमें एक पिता ने कुछ लोगों के साथ मिलकर अपनी बेटी और उसके प्रेमी की पीट-पीट कर हत्या कर दी. पुलिस ने बताया कि सोमवार रात को हुई इस घटना का पता बुधवार शाम चला.

पुलिस के अनुसार युवती (19) और गणपत (35) के कुछ समय से संबंध थे. सोमवार की रात युवती के पिता रामगोपाल ने उसे गणपत से फोन पर बात करते हुए पकड़ लिया. युवती ने कहा कि वह गणपत से शादी करना चाहती है. रामगोपाल ने उसे बुलाने को कहा. गणपत जब गांव के पास पहुंचा तो रामगोपाल और उसके पांच साथियों ने उसे और युवती को पकड़ लिया और अलौदा गांव में उनकी बुरी तरह पिटाई की. इसमें दोनों की मौत हो गई. आरोपियों ने शवों को पहाड़ी इलाके में फेंक दिया.

पुलिस को गुमराह करने के लिए रामगोपाल ने सोमवार को ही अपनी बेटी की गुमशुदगी की शिकायत खाटूश्यामजी थाने में दर्ज कराई. दूसरी ओर गणपत के भाई ने भी उसी दिन रानौली पुलिस स्टेशन में अपहरण का मामला दर्ज कराया था. सीकर ग्रामीण के वृत्ताधिकारी राजेश आर्य के अनुसार पुलिस ने मामले की जांच करते हुए प्रमुख संदिग्ध के रूप में रामगोपाल को पकड़ा. रामगोपाल ने अपनी बेटी और उसके प्रेमी गणपत की हत्या करने की बात स्वीकार की.

अधिकारी ने कहा, कल रात शव बरामद किए गए और आज पोस्टमॉर्टम किया जा रहा है. रामगोपाल को गिरफ्तार कर लिया गया है और दो अन्य को हिरासत में ले लिया गया है और बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है. गणपत शादीशुदा और तीन बच्चों का पिता था.

(इनपुट-भाषा)