गुड़गांव: हरियाणा पुलिस ने शुक्रवार शाम को राजस्थान पुलिस के एक दल को गुड़़गांव के एक होटल में प्रवेश करने से रोक दिया जहां कांग्रेस के कुछ असंतुष्ट विधायकों के ठहरे होने की बात कही जा रही है. खबरों में इस तरह की जानकारी सामने आई. हालांकि काफी देर बाहर इंतजार करने के बाद हरियाणा पुलिस ने राजस्थान पुलिस को मानेसर के इस होटल में जाने की इजाजत दे दी. Also Read - Rajasthan में 31 हजार शिक्षकों की भर्ती को मंजूरी मिली, ऐसी होगी Recruitment Process

खबरों के अनुसार, राजस्थान पुलिस ने राज्य के कुछ असंतुष्ट कांग्रेस विधायकों की आवाज के नमूने लेने के लिए विशेष कार्य समूह (एसओजी) के एक दल को भाजपा शासित हरियाणा में भेजा था. राजस्थान पुलिस ने दो ऑडियो क्लिप के सिलसिले में प्राथमिकी दर्ज की है जिसमें कथित तौर पर कुछ लोगों को राज्य की कांग्रेस नीत सरकार को गिराने की साजिश पर बात करते हुए सुना जा सकता है. Also Read - Priest Murder Case: राजस्थान सरकार ने पुजारी की हत्या मामले की जांच CID-CB से कराने के दिए निर्देश

इससे पहले केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने शुक्रवार को कहा कि राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार गिराने की साजिश में उनके कथित तौर पर संलिप्त होने का दावा करने के लिये कांग्रेस जिस ऑडियो क्लिप का हवाला दे
रही है, उसमें उनकी आवाज नहीं है और वह हर जांच के लिए तैयार हैं. Also Read - राजस्थान: मृतक पुजारी का हुआ अंतिम संस्कार, सरकार 10 लाख रुपये की मदद और नौकरी देगी

राजस्थान में जारी राजनीतिक घटनाक्रम के बीच मीडिया में वायरल हुए ऑडियो में बातचीत कर रहे लोगों के बारे में कांग्रेस ने दावा किया है कि यह आवाज कांग्रेस के बागी विधायक भंवरलाल शर्मा, गजेंद्र सिंह शेखावत और भाजपा
नेता संजय जैन की है. इन रिकार्डिंग में कथित तौर पर विधायकों की खरीद फरोख्त के बारे में चर्चा हो रही है.