जयपुर: राजस्थान के कृषि विभाग ने जयपुर जिले में टिड्डियों को नियंत्रित करने के लिए कीटनाशक के छिड़काव के लिए एक ड्रोन की मदद ली है. जयपुर जिले के चौमू के पास सामोद में ड्रोन का उपयोग किया गया. बता दें कि पाकिस्तान से 11 अप्रैल को भारत में घुसे टिड्डियों के दल राज्य के छह जिलों में प्रवेश कर चुके हैं.Also Read - आजादी के 75 साल में पहली बार पाकिस्‍तान से तीर्थयात्र‍ी PIA की स्‍पेशल फ्लाइट से पहुंचेंगे भारत

कृषि विभाग के आयुक्त ओमप्रकाश ने बताया, ”हमने किराए पर लिए गए ड्रोन का उपयोग करना शुरू किया है और आने वाले कुछ दिनों के आवश्यकतानुसार और ड्रोन इस्तेमाल किए जाने की संभावना है.” Also Read - Republic Day Parade 2022: High Tech सुरक्षा के घेरे में दिल्ली | ज़मीन से आसमान तक रखी जा रही नजर

कृषि विभाग के आयुक्त ने बताया कि ड्रोन ऊंचाई से कीटनाशक का छिड़काव करने में उपयोगी होते हैं और पहाड़ी इलाकों में ट्रैक्टर में लगे छिड़काव यंत्रों (माउंटेड स्प्रेयर) के जरिये कीटनाशक छिड़का जाता है, क्योंकि वहां अन्य वाहन नहीं जा सकते. Also Read - Delhi, Mumbai में घटी कोरोना की रफ्तार, कर्नाटक में बड़ी संख्‍या में आए केस, देखें अपने राज्य का अपडेट

ड्रोन से 15 मिनट की उड़ान में लगभग 2.5 एकड़ क्षेत्र में कीटनाशक दवाइयों का छिड़काव किया जा रहा है. राज्य में टिड्डी नियंत्रण के लिए ड्रोन और छिड़काव यंत्र वाले ट्रैक्टरों के अलावा दमकल के वाहनों का इस्तेमाल किया जा रहा है.