नई दिल्ली/जयपुर. राजस्थान सीएम अशोक गहलोत ने सोमवार को अपने कैबिनेट का गठन किया. राजभवन में आयोजित कार्यक्रम में 13 कैबिनेट मंत्री और 10 राज्यमंत्रियों ने शपथ ली. इसमें सहयोगी दल राष्ट्रीय लोक दल के एक विधायक सुभाष गर्ग को भी मंत्री बनाया गया है. बताया जा रहा है कि वह सीएम अशोक गहलोत के करीबी हैं. गहलोत ने 17 दिसम्बर को मुख्यमंत्री पद शपथ ली थी. उसी दिन सचिन पायलट को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई गई जिन्हें उपमुख्यमंत्री बनाया गया है.
बता दें कि राजस्थान में सीएम पद के लिए अशोक गहलोत और सचिन पायलट में रेस के बाद मंत्रिपरिषद को भी लेकर दोनों नेताओं ने पूरा जोर लगाया था. रिपोर्ट्स के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इसमें हस्तक्षेप किया था और नए चेहरों को मौका देने की बात की थी. इसके बाद गहलोत और पायल ने मिलकर 23 नामों का चयन किया. इलमें 17 नए चेहरे हैं. Also Read - Coronavirus: राजस्थान सरकार का ऐलान, बसों व अन्य गाड़ियों को दिन में दो-तीन बार किया जाएगा साफ़  

ये 13 नेता बने कैबिनेट मंत्री
बीडी कल्ला, शांति धारीवाल, सालेह मोहम्मद, मास्टर भंवरलाल मेघवाल, हरीश चौधरी, रमेश चंद्र मीणा, लालचंद कटारिया, डॉ रघु शर्मा, परसादी लाल मीणा, प्रमोद जैन भाया, विश्वेंद्र सिंह, उदयलाल आंजना, प्रताप सिंह खाचरियावास. Also Read - ज्योतिरादित्य सिंधिया जैसी घटनाएं अभी और देखने को मिलेंगी, थोड़ा इंतजार कीजिएः शेखावत

ये 10 बने राज्य मंत्री
गोविंद सिंह डोटासरा, सुभाष गर्ग, अर्जुन बामनिया, भंवरसिंह भाटी, श्रीमति ममता भूपेश, टीकाराम जूली, सुखराम विश्नोई, अशोक चांदणा, भजनलाल जाटव, राजेंद्र यादव. Also Read - विधायकों की खरीद-फरोख्त: बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने किया गहलोत पर पलटवार

99 सीट पाई है कांग्रेस
बता दें कि विधानसभा चुनाव में शुरू से बढ़त बनाई कांग्रेस को 99 सीटें मिली. वह सबसे बड़ी पार्टी तो साबित हुई, लेकिन बहुमत की दहलीज पर आकर एक सीट से चूक गई. लेकिन सरकार बनाने में कामयाब हुई. अशोक गहलोत तीसरी बार राजस्थान के सीएम बने हैं. उन्होंने दो दिन के अंदर ही किसानों का कर्जा माफी की घोषणा कर दी, जो कि उनकी पार्टी का सबसे बड़ा चुनाव वादा था.