Rajasthan News: राज्य सरकार की ओर से विभिन्न विभागों में वितरण के लिए नए साल 2021 के 2.5 लाख कैलेंडर छपवाए गए. इनमें से करीब एक लाख कैलेंडर में गलतियों की भरमार है. गलत छपे इन एक लाख कैलेंडरों में स्टीकर लगाकर गलती को दुरुस्त किया गया है. गलत छपे सभी कैलेंडरों में प्रूफ रीडिंग की गलती है. राज्य सरकार की ओर से छपवाए गए इन कैलेंडरों में दीवार कैलेंडर की कीमत 13 रुपए और टैबल कैलेंडर की कीमत 23 रुपये हैं. Also Read - Rajasthan Board Exam: राजस्थान सरकार ने एग्जाम पैटर्न में किए ये बदलाव, अब 40 प्रतिशत अकों की देनी होगी परीक्षा, जानें पूरी डिटेल 

गौरतलब है कि सामान्य प्रशासन विभाग ने सरकारी छुट्टियों का कैलेंडर बनाकर छपवाने के लिए प्रिंटिंग एवं स्टेशनरी विभाग को दिया था. यहां पर कैलेंडर का ड्राफ्ट तैयार हुआ, लेकिन प्रूफ में खामी रह गई. इस कारण वर्ष 2021 के इस कैलेंडर के 12 में से 8 पन्नों पर तारीखों की खामियां रह गई. जब तक गलती पकड़ में आई तब तक एक लाख कैलेंडर छप गए. इसके बाद में डेढ़ लाख कैलेंडर सही छपवाए गए. अब विभाग की ओर से गलत छपे एक लाख कैलेंडरों पर भी स्टीकर लगाकर गलती को दुरुस्त किया जा रहा है. Also Read - अंडरगारमेंट में दुबई से छिपाकर 31 लाख का सोना लाई महिला, जयपुर एयरपोर्ट पर हुई गिरफ्तार

ये हुई गलती Also Read - राजस्थान: मंकर संक्राति पर इस बार कोरोना के कारण नहीं होगा बहुचर्चित काइट फेस्टिवल

कैलेंडर में प्रत्येक महीने की आखिरी तारीख के बाद अगले महीने की अगली तारीख अंकित रहती है. लेकिन गलत छपे कैलेंडरों में फवरी, मार्च, अप्रैल, जून, अगस्त, सितंबर, नवंबर और दिसंबर महीने में महीने की आखिरी तारीख के बाद खाली रहे बॉक्स में अगले महीने की तारीख अंकित नहीं हुई है.

प्रिंटिंग एवं स्टेशनरी विभाग के निदेशक असलम शेर खान का इस संबंध में कहना है कि प्रूफ रीडिंग की खामी के कारण कुछ कैलेंडर गलत छप गए थे. गलती पकड़ में आने के बाद सही कैलेंडर छपवा लिए गए थे. जिन कैलेंडरों में गलती हुई उन पर भी स्टीकर लगवाकर सही करवा लिए गया है.