जयपुर: राजस्थान के अलवर जिले के थानागाजी थाना क्षेत्र में पति के साथ बाइक पर जा रही एक महिला के साथ उसके पति के सामने पांच आरोपियों ने कथित तौर पर दुष्कर्म कर घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. मामले के सामने आने के बाद पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है. बता दें कि पुलिस ने बताया कि वारदात 26 अप्रैल को हुई और इस संबंध में दो मई को पांच आरोपियों के खिलाफ संबंधित आईपीसी और एससी/एसटी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है.

पुलिस महानिदेशक कपिल भट्ट ने मंगलवार को यहां संवाददाताओं को बताया कि पांचों आरोपियों में से एक आरोपी ट्रक चालक इंद्रराज गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया गया है. वहीं, घटना में शामिल अन्य आरोपियों की तलाश के लिए 14 टीमों का गठन किया गया है. उन्होंने बताया कि मामले में त्वरित कार्यवाही नहीं करने पर थानागाजी पुलिस थाने के थानाधिकारी को निलंबित कर दिया गया है.

पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने मोटरसाइकिल से थानागाजी—अलवर बाईपास पर जा रहे पति-पत्नी को रोककर सुनसान इलाके में ले गए, जहां उन्होंने महिला के साथ पति के सामने सामूहिक दुष्कर्म किया. आरोपियों ने पति को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी थी. आरोपियों ने घटना का वीडियो बनाकर उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया.

वहीं, भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी ने अलवर की इस घटना की निंदा करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलाते से इस्तीफा देने की मांग की है. सैनी ने कहा कि अभी तक इस मामले में गृह मंत्रालय तथा सरकार का कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है. यह वीभत्स घटना निंदनीय है. इस मामले में मुख्यमंत्री को कार्रवाई करनी चाहिए. इतने दिनों तक मामले को दबाए रखने के लिए मुख्यमंत्री जिम्मेदार हैं. उन्हें इस्तीफा देना चाहिए.

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि इस घटना की जानकारी को चुनाव तक छिपाये रखने में गहरा राजनीतिक षड्यंत्र नजर आता है. राजनीतिक नुकसान से बचने के लिए चुनाव तक इस मामले को कांग्रेस की सरकार ने दबाकर रखा है. इस घटना के लिए जितने दोषी अपराधी हैं, उससे अधिक दोषी सरकार में बैठे लोग हैं. भाजपा इस घटना की तथा इस घटना को इतने दिन तक दबाकर रखने वाली नाकारा, असंवेदनशील तथा लापरवाह सरकार की भी कड़ी निंदा करती है.

सैनी ने कहा कि प्रदेश में अनेक स्थानों पर राहुल गांधी के अब होगा न्याय के पोस्टर लगे है. प्रदेश की महिलाएं पूछना चाह रही है कि कांग्रेस के राज में उनके साथ इतना अन्याय क्यों हो रहा है. उदयपुरवाटी में 21 दिन में दुष्कर्म की नौ घटनाएं हो गई, सीकर में दुल्हन का अपहरण हो गया, प्रदेश में लगातार ऐसी अनेक घटनाएं हो रही है. ऐसी घटनाओं पर सरकार का चुप रहना सवाल खड़े करता है.

सैनी ने कहा कि राज्यसभा सांसद रामकुमार वर्मा, महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सुमन शर्मा तथा वित्त आयोग की पूर्व अध्यक्ष डॉ. ज्योति किरण शुक्ला के नेतृत्व में एक समिति गठित की है. यह समिति पीड़िता और संबंधित अन्य लोगों से मिलकर कल सुबह तक अपनी रिपोर्ट देगी.