जयपुर: राजस्थान में विधानसभा चुनाव के लिए शाम पांच बजे तक 72.62 प्रतिशत मतदान हुआ. हालांकि यह शुरुआती आंकड़ा है और अंतिम आंकड़े के देर शाम तक आने की संभावना है. चुनाव आयोग के मुताबिक, राजस्थान विधानसभा चुनावों में 72.62 प्रतिशत मतदान रहा. वहीं, बीकानेर के कोलायत में एक मतदान केंद्र के बाहर दो गुट आपस में उलझ गए. एक वाहन फूंक दिया गया. सीकर में भी ऐसी झड़प हुई, लेकिन मतदान अप्रभावित रहा. कई मतदान केंद्रों पर ईवीएम मशीनों के काम नहीं करने की खबरें भी आईं.

निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, राज्य की 200 में 199 सीटों के लिए मतदान शुक्रवार को सुबह आठ बजे शुरू हुआ और शाम पांच बजे तक 72.62 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. मतदान का आधिकारिक समय शाम पांच बजे तक था और इस समय तक मतदान केंद्र की कतार में शामिल हो चुके मतदाताओं को मतदान करने दिया जाएगा और सही सही तस्वीर कुछ घंटे बाद ही साफ हो पाएगी.

 हालात पर काबू पाने के लिए हवा में गोली चलानी पड़ी
विशिष्ट पुलिस महानदिेशक (कानून व्यवस्था) एन आर के रेड्डी ने बताया कि दो तीन छोटी घटनाओं को छोड़कर कुल मिला कर मतदान शांतिपूर्ण रहा. उन्होंने बताया कि बीकानेर के कोलायत और सीकर में दो गुटों में झड़प हुई. वहीं, अलवर के शाहजहांपुर के एक गांव में कुछ लोगों ने मतदान केंद्र में घुसने की कोशिश की. वहां अर्धसैनिक बलों को हालात पर काबू पाने के लिए हवा में गोली चलानी पड़ी. इस घटना के कारण मतदान बाधित हुआ.

बीकानेर में मतदान केंद्र के बाहर दो गुटों में झड़प
राजस्थान के बीकानेर जिले में शुक्रवार को एक मतदान केंद्र के बाहर दो गुटों में झड़प हो गई. हालांकि चुनावी प्रक्रिया बाधित नहीं हुई. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि झड़प से चुनावी प्रक्रिया बाधित नहीं हुई.

पर्याप्त सुरक्षा बंदोबस्त किए गए
विशिष्ठ पुलिस महानिदेशक (कानून और व्यवस्था)  एनआरके रेड्डी ने कि सुबह दो गुटों में झड़प के बाद एक वाहन को आग लगा दी गई थी. हालांकि इससे चुनावी प्रक्रिया बाधित नहीं हुई. राज्य में मतदान शांतिपूर्ण चल रहा है. उन्होंने बताया कि स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव के लिए राज्य में पर्याप्त सुरक्षा बंदोबस्त किए गए हैं. राज्य में सीआरपीएफ सहित 1.44 लाख सुरक्षा कर्मियों को चुनावी ड्यूटी पर तैनात किया गया है.

खास बातें
– राजस्‍थान में राज्य में 51,687 मतदान केंद्र
– 13,382 मतदान केंद्र संवेदनशील श्रेणी में
– 200 सीटों वाली विधानसभा के लिए 199 सीटों पर मतदान
– शुक्रवार सुबह 8 बजे शुरू हुआ
– कई स्थानों पर ईवीएम की खराबी के चलते मतदान देरी से शुरू हुआ
– 1.44 लाख सुरक्षाकर्मी सीआरपीएफ समेत तैनात