नई दिल्‍ली: राजस्‍थान में सत्‍तारूढ़ कांग्रेस सरकार में मचे सियासी घमासान के बीच और विवादों के बीच बीजेपी ने कहा है कि जब समय सही होगा और हमें कुछ करना होगा, हम चर्चा करेंगे और उस दिशा में आगे बढ़ेंगे. राजस्‍थान में बीजेपी विधायक दल के नेता गुलाब चंद कटारिया ने ये बयान आज रविवार को दिया है. Also Read - राजस्‍थान सरकार और गुर्जर नेताओं के एक गुट के बीच 14 बिंदुओं पर बनी सहमति

सीनियर बीजेपी नेता गुलाबचंद कटारिया ने कहा, बीजेपी ने कभी फ्लोर टेस्ट की मांग नहीं की थी, अब भी नहीं. हम उनकी लड़ाई देख रहे हैं. जब समय सही होगा और हमें कुछ करना होगा, हम चर्चा करेंगे और उस दिशा में आगे बढ़ेंगे. अभी तक हमें इस मामले में अनावश्यक रूप से घसीटा जा रहा है. Also Read - सुन लीजिए कमलनाथ जी... मैं कुत्ता हूं, मेरा मालिक मेरी जनता है, जिसकी मैं सेवा करता हूं: सिंधिया

राजस्‍थान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष के पद की जिम्‍मेदारी संभाल रहे सीनियर बीजेपी नेता कटारिया ने कहा, सरकार को फोन टेप कराने का अधिकार है, लेकिन गृह विभाग के संज्ञान में लाने और स्‍वीकृति के बाद. कोई प्राइवेट व्‍यक्ति ऐसा करने के लिए अधिकृत नहीं है. कुछ का कहना है कि लोकेश शर्मा, जिन्‍हें सीएम का ओएसडी बताया जा रहा है, उन्‍होंने किया है. वह अधिकृत नहीं हैं, उन्होंने कानून का उल्लंघन किया है. Also Read - Bihar Assembly Election 2020: राजनाथ सिंह का कांग्रेस पर हमला, बोले- अगर मैंने खुलासा कर दिया तो चेहरा दिखाना मुश्किल हो जाएगा

राजस्थान में 200 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के 107 विधायक हैं, जिनमें से 19 असंतुष्ट विधायकों को अध्यक्ष ने अयोग्य करार देने का नोटिस जारी किया है और उन्होंने इसे हाईकोर्ट में चुनौती दी है. कांग्रेस ने दावा किया है कि गहलोत सरकार के पास बीटीपी के दो विधायकों समेत 109 विधायकों का समर्थन है.