जयपुर: कांग्रेस ने केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार को अस्थिर करने के षडयंत्र में शामिल होने का आरोप लगाते हुए रविवार को उनके त्यागपत्र की मांग की. कांग्रेस नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय माकन ने कहा कि राज्य पुलिस के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने पार्टी विधायक भंवरलाल शर्मा, गजेंद्र सिंह और संजय जैन की बातचीत के ऑडियो टेप के संबंध में एक मामला दर्ज किया है. Also Read - कलकत्ता हाईकोर्ट पहुंचा 'नंदीग्राम का संग्राम'- मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने BJP के शुभेंदु अध‍िकारी की जीत को दी चुनौती

माकन ने कहा कि शेखावत को एक मिनट भी अपने पद पर बने रहने की नैतिक अधिकार नहीं है और इसी वक्त उन्हें इस्तीफा देना चाहिए नहीं तो केंद्र सरकार को उनको हटाना चाहिए. उन्होंने कहा कि शेखावत को अपनी आवाज का नमूना देना चाहिए ताकि यह पता चल सके कि जो आवाज ऑडियो टेप में है ये वहीं गजेंद्र सिंह है या नहीं है. Also Read - येदियुरप्पा के विरोधी भाजपा विधायक का बड़ा आरोप, 'मेरा फोन टैप किया जा रहा, लगातार पीछा किया जा रहा'

पूर्व केंद्रीय मंत्री माकन ने कहा, ”जब गजेंद्र सिंह का नाम एफआईआर में आ गया, जब उनकी आवाज जो कि सब लोग जानते-पहचानते हैं, उन लोगों ने भी पहचान कर ली तो क्या औचित्य है कि वह अभी भी केंद्र सरकार में मंत्री पद पर बने हुए हैं? क्या उनको अधिकार है कि अभी भी वह केंद्र सरकार के मंत्री पद पर बने रहे?” Also Read - Toolkit Case: दिल्‍ली पुलिस ने Twitter India के एमडी से विवादास्‍पद टूलकिट केस में की पूछताछ!

माकन ने कहा, ”कांग्रेस पार्टी इसलिए यह मांग करती है कि गजेंद्र सिंह शेखावत को या तो इस्तीफा देना चाहिए या उनको तुरंत प्रभाव से हटा दिया जाना चाहिए ताकि वह जांच में हस्तक्षेप ना कर सकें.” माकन ने कहा, ”दिल्ली की पुलिस और हरियाणा पुलिस भंवर लाल शर्मा और विश्वेन्द्र सिंह का आवाज का नमूना लेने से क्यों रोक रही है.” उन्होंने कहा कि जितना आप रोक रहे हो यकीनन लोगों के दिमाग में यह तय होता जा रहा है कि इसके अंदर किसी ना किसी तरह की मिली भगत है और यह इन्हीं की आवाज है और यह धीरे धीरे साबित होता जा रहा है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री माकन ने कहा, ”क्या केंद्र सरकार सीबीआई की धमकी इसलिये दे रही है कि इसके अंदर और भी बड़े बड़े लोग शामिल है. इसके अंदर और नेता भी है…और अगर धीरे धीरे यह जांच और ऊपर जाएगी तो पता नहीं कहां पर खत्म होगी तो क्या इसलिए सीबीआई की धमकी दी जा रही है.” माकन ने कहा, ”क्या भाजपा को यह नहीं बताना चाहिए कि इतना काला धन कहां से आ रहा है. इतना सारा पैसा….30 करोड़..35 करोड़ प्रति विधायक की बात हो रही है.. इतना सारा कालाधन कहां से आ रहा है और कौन मुहैया करा रहा है.”

माकन ने कहा कि शेखावत को एक मिनट भी अपने पद पर बने रहने की नैतिक अधिकार नहीं है और इसी वक्त उन्हें इस्तीफा देना चाहिए नहीं तो केंद्र सरकार को उनको हटाना चाहिए. उन्होंने कहा कि शेखावत को अपनी आवाज का नमूना देना चाहिए ताकि यह पता चल सके कि जो आवाज ऑडियो टेप में है ये वहीं गजेंद्र सिंह है या नहीं है.