पाकिस्तान में 25 जुलाई को आम चुनाव के लिए वोट डाले गएं. 342 सीटों पर होने वाले इस चुनाव के लिए सभी पार्टियों ने पूरी ताकत झोंक दी थीं. बता दें कि वहां 272 जनरल सीट्स हैं, जबकि 70 स्पेशल सीट्स हैं. स्पेशल सीट्स महिला और जातीय अल्पसंख्यकों के लिए फिक्स हैं. आम चुनाव के लिए 4 जून से नामांकन शुरू हो गया था. 8 जून तक नामांकन भरे गए थे. इसमें कई बड़ी हस्तियों के नामांकन पत्र खारिज हुए.

प्रमुख पार्टी और नेता
पाकिस्तान के इस चुनाव में मुख्य रूप से तीन पार्टियां लड़ाई में हैं. इनमें पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) (PML-N), पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPL) और पाकिस्तान तहरीक-ऐ-इंसाफ (PTI) हैं. PML-N का नेतृत्व पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भाई शेहबाज शरीफ कर रहे हैं. PPP का नेतृत्व बेनजीत भुट्टो का बेटा बिलावल भुट्टो जरदारी कर रहे हैं और PTI का नेतृत्व इमरान खान कर रहे हैं.

पिछले चुनाव में किस पार्टी को कितनी सीट
पाकिस्तान मुस्लिम लीग (PML-N) को 166 सीटों पर जीत मिली थी. उसे 32.77 फीसदी वोट मिले थे. भुट्टो की पार्टी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPL) दूसरे नंबर पर रही. उसे 42 सीट मिली थी. वोट शेयर के हिसाब से उसे 15.23 फीसदी वोट मिले थे. वहीं, इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ऐ-इंसाफ को 35 सीटों पर ही संतोष करना पड़ा था. उसे 16.90 फीसदी वोट मिले थे.

चुनाव का मुद्दा
पाकिस्तान में ये चुनाव भ्रष्टाचार, पनामा पेपर लीक, विकास, आतंकवाद जैसे मुद्दे पर लड़ा जा रहा है. हालांकि, इसमें भ्रष्टाचार सबसे बड़ा मुद्दा है. 3 अप्रैल 2016 इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स (ICIJ) ने 11.5 मिलियन सिक्रेट डॉक्युमेंट बनाया, जिसे बाद में पनामा पेपर्स नाम दिया गया. इसमें नवाज शरीफ के परिवार वालों का नाम शामिल था. इसमें नवाज की बेटी मरियम, बेटे हसन और हुसैन का नाम भी शामिल था. पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने 29 अगस्त को शरीफ को नेशनल एसेंबली से डिसक्वालिफाई कर दिया था.

चुनाव में हिंसा
10 जुलाई को अवामी नेशनल पार्टी की पेशावर के बगल में यकातूत में एक रैली में आत्मघाती बम धमाका हुआ. इसमें 14 लोगों की मौत हो गई और 60 से ज्यादा लोग घायल हो गए. बाद में पीके-78 का चुनाव पोस्टपोन कर दिया गया है. 12 जुलाई को नेशनल असेंबली के पूर्व सदस्य अलहाज शाह जी गौर अफरीदी की हत्या कर दी गई. 13 जुलाई को जेयूआई-एफ कैंडिट की कार के पास धमाके में 4 लोगों की मौत हो गई और 10 से ज्यादा लोग घायल हो गए. इसी दिन एक अलग हमले में सुसाइड बॉम्बर ने 131 लोगों को मौत के घाट उतार दिया. इसमें 300 से ज्यादा लोग घायल हो गए.

कहां-कितनी सीटें
इस बार चुनाव का साल 2017 की जनगणना के मुताबिक नए सीमांकन के मुताबिक हो रहा है. इस्लामाबाद राजधानी परीक्षेत्र में 3 सीट, पंजाब में 141, सिंध में 61, खैबर में 39 और बलूचिस्तान में 16 सीटें हैं. फेडरल एडमिनिस्ट्रेटेड एरियाज में नेशनल एसेंबली में 12 सीटें हैं.

अन्य प्रमुख पार्टी
पाकिस्तान में मुताहिदा मजलिस-ए-अमाल, पख्तूनख्वा मिल्ली अवामी पार्टी, पाक सरजमीं पार्टी, अवामी नेशनल पार्टी, तहरी लाबायक पाकिस्तान, कौमी मूवमेंट पाकिस्तान और बलूचिस्तान अवाम पार्टी भी हैं, जो चुनाव में अपनी किस्मत को आजमा रही हैं.