नई दिल्ली: योग गुरु बाबा रामदेव का पुतला जल्द ही लंदन के मैडम तुसाद संग्रहालय में देखने को मिलेगा. स्वामी विवेकानंद के बाद बाबा रामदेव दूसरे ऐसे संयासी होंगे जिनका पुतला मैडम तुसाद संग्रहालय में देखने को मिलेगा. उम्मीद जताई जा रही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पुतले के पास ही बाबा का पुतला लग सकता है. इस बात की जानकारी बाबा रामदेव ने स्वयं सोशल मीडिया पर साझा की है. अपनी पोस्ट में बाबा रामदेव ने कहा, ‘ पहली बार मैडम तुसाद म्यूजियम में एक योगी की मूर्ति स्थापित की जाएगी. यह योग के विज्ञान की महिमा को आगे बढ़ाएगा और योगी जीवनशैली को अपनाने के लिए दुनिया भर के लोगों को प्रेरित करेगा. Also Read - Video: योगगुरु बाबा रामदेव हाथी की पीठ पर योग करते हुए अचानक नीचे गिरे

उन्होंने यह भी लिखा है, ‘बॉलीवुड, हॉलीवुड, नेताओं के बीच पहली बार एक खड़ाऊधारी संन्यासी भी होगा जिससे योग, ऋषियों, अध्यात्मिकता को भी गौरव मिलेगा.’ हाल ही में बाबा रामदेव ने अपने लंदन दौरे के दौरान मैडम तुसाद संग्रहालय जाकर कई प्रतिमाओं को देखा था और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बुत के साथ योग की मुद्रा में खिंचाई अपनी फोटो भी साझा की थी.रामदेव ने कहा कि दो महीने पहले ही वह मैडम तुसाद संग्रहालय को अपनी प्रतिमा लगाए जाने के संबंध में सहमति दे चुके हैं. स्वामी विवेकानंद के बाद बाबा रामदेव दूसरे संत हैं जिनकी प्रतिमा मैडम तुसाद संग्रहालय में लगायी जाएगी.

कई नामचीन भारतीयों के बुत इस संग्रहालय में स्थापित किये जा चुके हैं जिसमें महात्मा गांधी, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी के अलावा मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ियों सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली के भी पुतले हैं. इसके अलावा अमिताभ बच्चन, रजनीकांत, प्रभास और ऐश्वर्या राय के मोम के पुतले यहां मौजूद हैं.बाबा रामदेव इस पुतले में भगवा रंग के कपड़ों के साथ खड़ाऊं (लकड़ी से बनी चप्पल) पहने हुए दिखाई देंगे. लंदन में उनके पुतले का अनावरण किए जाने के बाद वैसा ही एक और पुतला दिल्ली स्थित मैडम तुसाद संग्रहालय में भी लगाया जाएगा. मैडम तुसाद संग्रहालय की स्थापना 1835 में मोम शिल्पकार मेरी तुसाद ने की थी.