नई दिल्ली: इंस्टाग्राम चैट ग्रुप ‘बॉयज लॉकर रूम’ के खुलासे के बाद देश में सनसनी मच गई है. निजी चैट समूह के लीक स्क्रीनशॉट्स ने देश में दुष्कर्म जैसे घिनौने मामले को एक बार फिर तूल दे दिया है. शेयर किए गए स्क्रीन शॉट्स में कथित तौर पर कम उम्र की लड़कियों की तस्वीरें साझा करते हुए उन्हे आपत्तिजनक बनाते और उनके साथ सामूहिक दुष्कर्म जैसे योजना बनाते देखा गया है. इसी से जुड़ा ट्रेंड #BoysLockerRoom सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगा है. वहीं इस मामलें में कार्रवाई करते हुए दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने एक नाबालिग को गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही ग्रुप के लगभग सभी 21 सदस्यों की पहचान की जा चुकी है. बता दें कि पकड़े गए छात्र का मोबाइल फोन भी बरामद कर लिया गया है. इसकी भी जांच की जा रही है. Also Read - IB कर्मी अंकित शर्मा हत्याकांड: SIT ने 650 पेज की चार्जशीट दाखिल की, जेल में हैं सभी आरोपी

वहीं इस बीच अश्लील चैट मामले के सामने आते ही दिल्ली के साइबर क्राइम सेल ने इसकी जांच शुरू कर दी है. साथ ही सोशल मीडिया रिपोर्ट्स के आधार पर पुलिस ने मामला भी दर्ज कर लिया है. यही नहीं अश्लील चैट के लीक होने के बाद महिला आयोग ने दिल्ली पुलिस के साथ इंस्टाग्राम को नोटिस जारी कर दिया है. साथ ही इंस्टाग्राम को 8 मई तक कुछ अन्य जानकारियों को उपलब्ध कराने का आदेश भी दिया गया है. वहीं आरोपियों के खिलाफ की गई एफआईआर की डिटेल्स भी मांगी गई है. Also Read - SSC/CHSL/JE/CGL: कर्मचारी चयन आयोग ने जारी की पेंडिग परीक्षाओं की सूची, अब इस दिन होंगी परीक्षाएं

इस बाबत महिला आयोग प्रमुख स्वाति मालीवाल इंस्टाग्राम से ग्रुप एडिमन, हैंडल नेम, आईपी एड्रेस, ईमेल जैसी कई अन्य जानकारियों को साझा करने के लिए कहा है. उन्होंने कहा कि इंस्टाग्राम एक सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म है. ऐसे में प्लैटफॉर्म को इस बात पर नजर रखनी चाहिए साथ ही ध्यान इन सब पर ध्यान रखना चाहिए था और पुलिस को इस बारे में सूचित किया जाना चाहिए था.

क्या है बॉयज लॉकर रूम

बता दें कि सोमवार से ही #BoysLockerRoom ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है. ब्वॉयज लॉकर रूम एक इंस्टग्राम ग्रुप का नाम है. इस ग्रुप के ज्यादातर सदस्य स्कूली छात्र हैं. इस ग्रुप में स्कूली बच्चे लड़कियों की तस्वीरों को शेयर कर अश्लील बाते करते पाए गए हैं. साथ ही लड़कियों की तस्वीरों को शेयर कर उनसे सामूहिक दुष्कर्म तक करने की बात करते दिखे हैं. इस बात का खुलासा तब हुआ जब एक ट्विटर यूजर ने इस ग्रुप के स्क्रीनशॉट को सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया और यह मामला देखते ही देखते सुर्खियों में आ गया.

बता दें कि इस मामले का एक स्क्रीनशॉट दक्षिण दिल्ली की एक लड़की द्वारा सोशल मीडिया पर साझा किया गया था. इस पोस्ट को साझा करते हुए लड़की ने लिखा- दक्षिण दिल्ली के 17-18 साल की उम्र के लड़कों का यह एक ग्रुप है, जिसका नाम ‘बॉयज लॉकर रूम’ है, जहां कमसिन लड़कियों की तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ कर आपत्तिजनक बनाया जा रहा था. मेरे स्कूल के दो लड़के इसका हिस्सा हैं.” लड़की ने समूह में शामिल लड़कों की सूची और उनके चैट के स्क्रीनशॉट को भी साझा किया, जहां उन्हें लड़कियों की तस्वीरें साझा करते हुए और उन पर टिप्पणी करते हुए देखा जा सकता है.