नई दिल्ली: गूगल ने मंगलवार को डूडल के जरिए वर्ल्ड वाइड वेब (www) के 30 साल पूरे होने का जश्न मनाया. अंग्रेजी वैज्ञानिक टिम बर्नर्स-ली ने 1989 में www का आविष्कार किया और 1990 में पहला वेब ब्राउजर लिखा था. स्विट्जरलैंड स्थित सर्न कंपनी में काम करने के दौरान बर्नर्स-ली ने www की मूल अवधारणाओं को एक प्रस्ताव में सामने रखा था जिसमें एचटीएमएल, यूआरएल और एचटीटीपी जैसे फंडामेंटल शामिल थे.

‘सूचना प्रबंधन : एक प्रस्ताव’ शीर्षक वाले दस्तावेज में उन्होंने डॉक्यूमेंट्स को लिंक करने के लिए हाइपरटेक्स्ट के उपयोग की कल्पना की थी. www जिसे आमतौर पर वेब के रूप में जाना जाता है, एक सूचना स्थान है जहां डॉक्यूमेंट्स और अन्य वेब रिसोर्सेज की पहचान यूनिफॉर्म रिसोर्स लोकेटर (यूआरएल) द्वारा की जाती है. पहला वेब ब्राउजर वर्ष 1991 में जारी किया गया था, जिसे पहले शोध संस्थानों और फिर उसी साल इंटरनेट पर आम जनता के लिए शुरू कर दिया गया.

टिम बर्नर्स ली शरू से कुछ नया करना चाहते थे. क्वींस कॉलेज और ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई के बाद 1976 में उन्होंने फिजिक्स में डिग्री हासिल की. पढ़ाई पूरी करने के बाद वे यूरोपीय नाभिकीय अनुसंधान संगठन से जुड़े. इसी दौरान उन्होंने www की खोज की. भारत में इंटरनेट की शुरुआत 1995 में हुई. भारत में तेजी से इंटरनेट का विस्तार हो रहा है.