नई दिल्ली. अमेरिका के टेक्सास में भारतीय मूल का 14 वर्षीय कार्तिक नेम्मानी प्रतिष्ठित SpellingBee-2018 प्रतियोगिता का विजेता बन गया है. कार्तिक ने अंग्रेजी की इस विश्वस्तरीय प्रतियोगिता में 515 प्रतिभागियों को हराकर यह खिताब हासिल किया है. कार्तिक को सभी प्रतिभागियों के बीच किसी शब्द का सबसे ज्यादा सही स्पेलिंग बोलने के लिए यह इनाम दिया गया. 515 प्रतिभागियों में से फाइनल में चुनकर आए 16 बच्चों में से कार्तिक ने ‘Koinonia’ शब्द का सबसे सही उच्चारण किया. गुरुवार की रात मेरीलैंड के गेलॉर्ड नेशनल रिसॉर्ट एंड कंवेंशन सेंटर में आयोजित इस प्रतियोगिता के फाइनल स्टेज में आधे से अधिक प्रतिभागी शब्दों का सही उच्चारण नहीं कर पाए. वहीं कार्तिक ने अधिकतर शब्दों का सबसे सही और सटीक उच्चारण कर विजेता का खिताब अपने नाम कर लिया. कार्तिक के बाद दूसरे नंबर पर नायसा मोदी रहीं.

SpellingBeeKarthik1

 

11 से 14 वर्ष के थे सभी प्रतिभागी
टेक्सास में आठवीं कक्षा में पढ़ने वाले कार्तिक नेम्मानी ने प्रतियोगिता जीतने के बाद कहा कि वह इस स्पर्धा को जीतकर बेहद खुश हैं. 11 से 14 वर्ष के आयुवर्ग के बच्चों के लिए हुई इस प्रतियोगिता में पहली बार बच्चों के चयन के लिए SpellingBee संस्था ने नया तरीका अपनाया था. संस्था ने इस बार RSVBee नामक कार्यक्रम के तहत प्रतिभागियों का चयन किया था. इसमें संयुक्त राज्य अमेरिका के उन बच्चों को भी SpellingBee प्रतियोगिता में भाग लेने का मौका मिल सका, जो इस प्रतियोगिता के क्षेत्रीय संस्करणों में विजेता नहीं बन पाए थे. इसके पहले SpellingBee की क्षेत्रीय प्रतियोगिताओं में विजेता रहे प्रतिभागियों को ही राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में भाग लेने का मौका मिल पाता था. कार्तिक नेम्मानी को भी इस बार की प्रतियोगिता में RSVBee कार्यक्रम के तहत ही प्रवेश मिल पाया था. कार्तिक ने प्रतियोगिता जीतने के बाद संस्था के इस कार्यक्रम की सराहना की. कार्तिक ने कहा, ‘RSVBee जैसे कार्यक्रम ने मुझे यह मौका दिया, जिसके कारण ही मैं इस प्रतियोगिता में विजेता बन सका.

स्पेलिंगबी प्रतियोगिता की रनर-अप रही नायसा मोदी.

स्पेलिंगबी प्रतियोगिता की रनर-अप रही नायसा मोदी.

 

प्रतियोगिता में पूरे अमेरिका से आए थे बच्चे
SpellingBee की इस प्रतियोगिता में संयुक्त राज्य अमेरिका के अलावा कनाडा के बच्चों को भी भाग लेने का मौका मिला था. प्रतियोगिता के फाइनल में पहुंचने वाले कुल 16 प्रतिभागियों में 9 लड़कियां थीं, जबकि सात लड़के थे. इनमें से कई प्रतिभागी इससे पहले भी हुई राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में भाग ले चुके थे. प्रतियोगिता में दूसरे नंबर पर रहने वाली 12 वर्षीय नायसा मोदी ने कहा कि इस स्पर्धा में विजेता बनने के लिए बहुत दबाव था. नायसा ने फाइनल के बाद कहा, ‘मैंने विजेता बनने के लिए इस प्रतियोगिता में भाग नहीं लिया था, लेकिन अपनी ओर से मैंने पूरी कोशिश की. प्रतियोगिता जीतने के लिए बहुत दबाव थी.’ कार्तिक नेम्मानी और नायसा मोदी के अलावा SpellingBee प्रतियोगिता के टॉप-5 विजेताओं में 14 साल के श्रवंत माला, 12 वर्ष की श्रुतिका पाधी और 12 वर्ष की आयशा रंधावा शामिल थीं. फाइनल राउंड में सर्वश्रेष्ठ विजेता बनने के लिए सभी प्रतिभागियों ने 5 घंटे से अधिक देर तक स्टेज पर समय बिताया.