नई दिल्ली: राजस्थान में वसुंधरा राजे की सरकार के जाते ही देश के 29 राज्यों में महिला मुख्यमंत्रियों की संख्या घटकर एक पर आ गई है. इस समय पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ही वर्तमान में एक मात्र महिला सीएम हैं. इस साल तक देश में तीन महिला मुख्यमंत्री थीं. जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती, राजस्थान में वसुंधरा राजे और पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी. पीडीपी से समर्थन लेने के बाद जम्मू-कश्मीर में बीजेपी और पीडीपी गठबंधन की सरकार गिर गई थी और महबूबा मुफ्ती को सीएम पद से इस्तीफा देना पड़ा था. राजस्थान में 11 दिसंबर को आए नतीजों के बाद वसुंधरा राजे पद से इस्तीफा देना पड़ा. Also Read - West Bengal Assembly Election: कांग्रेस का ममता बनर्जी को बड़ा ऑफर, कहा- पश्चिम बंगाल में मिलकर चुनाव लड़े TMC, बीजेपी से...

Also Read - पाक से राजस्थान आए करीब 700 लोग 'लापता', केंद्र ने राज्य सरकार को दिए तलाशने के निर्देश

विधानसभा चुनाव 2018: क्या चुनावी वादों पर खरा उतर पाएगी कांग्रेस? तुरंत चाहिए 41 हजार करोड़ Also Read - उत्‍तरी भारत समेत कई राज्‍यों में कुछ दिन तक ठंड और ढाएगी कहर, मौसम विभाग का शीत लहर का अलर्ट जारी

2016 में देश में 5 महिला मुख्यमंत्री थीं. 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद गुजरात की कमान आनंदीबेन पटेल को सौंपा गया. वह इस पद पर लगभग दो सालों तक रहीं, हालांकि 7 अगस्त 2016 को उन्हें पद से इस्तीफा देना पड़ा था. तमिलनाडु में जयललिता 23 मई 2015 को मुख्यमंत्री बनी थीं. 5 दिसंबर 2016 को उनके निधन के बाद सत्ता ई. पलानीस्वामी के हाथों में चली गई. जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती ने 4 अप्रैल 2016 को राज्य की 9वें सीएम के तौर पर शपथ ली. उन्होंने बीजेपी के साथ गठबंधन कर सरकार बनाई लेकिन बीजेपी की ओर से समर्थन वापस लेने के बाद 19 जून 2018 को उन्हें इस्तीफा देना पड़ा था.

मध्य प्रदेश भाजपा के सामने सबसे बड़ा संकट- करिश्माई शिवराज के बाद कौन?

राजस्थान में 2013 में बीजेपी की शानदार जीत के बाद वसुंधरा राजे सीएम बनी थीं. 11 दिसंबर को आए नतीजों के बाद कांग्रेस ने 99 सीटों पर जीत हासिल की और सरकार बनाने जा रही है. इसके साथ ही राजे की विदाई हो गई. अब सिर्फ ममता बनर्जी ही एकमात्र महिला मुख्यमंत्री हैं. 2016 में उन्होंने दूसरी बार पश्चिम बंगाल की कमान संभाली थी.

लाखों कांग्रेसियों से ऐप के जरिए उनकी पसंद पूछने के बाद राहुल गांधी आज तय करेंगे कौन बनेगा मुख्यमंत्री

महिला मुख्यमंत्री के तौर पर शीला दीक्षित का कार्यकाल सबसे लंबा रहा है. 1998 से 2013 तक लगातार तीन बार वह दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं. उनका कार्यकाल 5504 दिनों का रहा. तमिलनाडु में जयललिता पांच बार मुख्यमंत्री चुनी गईं उनका कार्यकाल 5238 दिन का रहा. उत्तर प्रदेश में मायावती चार बार मुख्यमंत्री रह चुकी हैं. 3 जून 1995 को वह पहली बार सीएम बनी थीं. हालांकि 18 अक्टूबर 1995 को ही उन्हें इस्तीफा देना पड़ा था. दूसरी बार 21 मार्च 1997 से 20 सितम्बर 1997 तक सीएम रहीं. 3 मई 2002 वह तीसरी बार सीएम बनीं. 13 मई 2007 से 6 मार्च 2012 तक उन्होंने चौथी बार उत्तर प्रदेश की कमान संभाली.

जानिए, जब 11 दिसंबर को हार रही थी बीजेपी, तब क्या कर रहे थे पीएम नरेंद्र मोदी

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद इन राज्यों में दूर-दूर तक महिला मुख्यमंत्री मिलने के असार नजर नहीं आ रहे. तेलंगाना में के चंद्रशेखर राव आज दूसरी बार सीएम पद की शपथ लेंगे. मिजोरम में जोरामथंगा सीएम पद की शपथ लेंगे. वहीं राजस्थान में सीएम पद की रेस में सचिन पायलट और अशोक गहलोत का नाम चल रहा है. वहीं मध्य प्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ का नाम आगे चल रहा है. छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल और टीएस सिंह देव के नाम की चर्चा है. कुल मिलाकर देंखे तो आने वाले समय में भी किसी राज्य में महिला मुख्यमंत्री का बनना मुश्किल ही है.