नई दिल्ली: देश की आर्थिक राजधानी कही जाने वाली मुंबई न केवल अपने चकाचौंध के लिए पुरी दुनिया में फेमस है, बल्कि यहां मेहनतकश लोग भी बसते हैं. हाल ही में दुनिया के 77 शहरों में कराए गए सर्वे में दावा किया गया है कि मुंबई के लोग दुनिया के सबसे ज्यादा मेहनतकश लोग हैं और वे सबसे ज्यादा घंटे काम करते हैं. भले ही मेहनत के मामले में मुंबई वाले आगे हों लेकिन मुंबई वालों को उनके काम का उचित दाम नहीं मिल पाता. Also Read - केरल, महाराष्‍ट्र, दिल्‍ली राजस्‍थान समेत देश के कई राज्‍यों में कोरोना वायरस का प्रचंड प्रकोप, पढ़ेंं डिटेल

स्विस बैंक यूबीएस की ओर से कराए गए सर्वे में दावा किया गया है कि मुंबई के लोग हर साल 3314.7 घंटे तक काम करते हैं. अगर देखें तो मुंबईवाले यूरोपीय शहरों जैसे रोम और पेरिस के लोगों के काम से दोगुने से ज्यादा काम कर रहे हैं. रोम में जहां लोग 1581 वहीं पेरिस में 1662 घंटे तक काम करते हैं. Also Read - दो ढाबा मालिकों ने मुंबई की इवेंट मेनेजर से दिल्ली में किया रेप, फेसबुक पर हुई थी दोस्ती

इस लिहाज से देखें तो न्‍यूयॉर्क में काम करने वाला एक व्‍यक्‍त‍ि 54 घंटे की कमाई से जहां आईफोन खरीद सकता है वहीं मुंबई वालों को एक आईफोन खरीदने के लिए 917 घंटे काम करना पड़ेगा. Also Read - Bollywood Drugs Case: NCB के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े पर ड्रग पैडलर्स के ग्रुप ने किया हमला, 2 अधिकारी बुरी तरह जख्मी

हालांकि अमेरिका के शहर न्यूयॉर्क की तुलना में मुंबई में कई सारी चीजें सस्ती हैं. चाहे बात बाल कटाने की हो या किराए की.कमाई के मामले में देखा जाए तो जिनेवा, ज्यूरिख और लग्जमबर्ग टॉप पर हैं, जबकि मुंबई सूची में नीचे से दूसरे यानी 76वें नंबर पर है. मुंबई के बाद केवल काहिरा है. यूबीएस ने इस सर्वे में 15 तरह के जॉब को शामिल किया.