नई दिल्ली. जनरल बोगी में सफर करने वाले यात्रियों की सुविधा के लिए भारतीय रेलवे ने बड़ी घोषणा की है. मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों की अनारक्षित बोगियों में आरामदायक सफर के लिए रेलवे इस साल 700 नए दीनदयालु कोच पटरियों पर उतारने जा रही है. वर्ष 2016 में रेलवे में पहली बार शामिल किए गए ये दीनदयालु कोच, पारंपरिक जनरल बोगियों की तुलना में बेहद आरामदायक हैं. इनमें रिजर्वेशन बोगी की तरह ही गद्देदार सीट, मोबाइल चार्जिंग प्वाइंट, पीने के साफ पानी की व्यवस्था आदि जैसी कई सुविधाएं हैं. जनरल बोगियों में सफर करने वाले यात्रियों का सफर भी आरामदायक बनाने के लिए रेल मंत्रालय ने अत्याधुनिक सुविधाओं से सजी इन बोगियों को लॉन्च किया था.

मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों में 1 साल में लगे 141 दीनदयालू कोच
भारतीय रेलवे ने दीनदयालु कोच को लॉन्च करने के बाद इनका सबसे पहले उपयोग मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों में किया. अप्रैल 2016 से लेकर फरवरी 2017 के बीच रेलवे ने 23 जोड़ी मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों में कुल 141 दीनदयालु कोच लगाए. जनरल बोगी के यात्रियों को सुहाना सफर का अवसर देने का रेलवे का यह प्रयोग सफल रहा. इसलिए अब रेलवे ने देश में चलने वाली कई मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों में दीनदयालु कोच लगाने का निर्णय लेते हुए 700 नए कोच पटरियों पर उतारने की तैयारी की है. इन कोचों में यात्रियों के लिए वह सभी सुविधाएं हैं, जो अब तक उन्हें पारंपरिक जनरल बोगियों में नहीं मिल रही थीं.

दीनदयालु कोच में क्या-क्या सुविधाएं
1- कुशन-युक्त सामान रखने के रैक
2- पॉलीमर कोटिंग वाले बायो टॉयलेट
3- टॉयलेट इंडीकेटर्स

Deendayalu-Coach

Deendayalu-Coach1
4- पीने के पानी के लिए एक्वागार्ड वाटर फिल्टर
5- मोबाइल चार्जिंग प्वाइंट
6- आग रोकने के लिए फायर एक्सटिंग्यूशर्स
7- कोच के अंदर व बाहर सुंदर कलर स्कीम
8- कोच के दरवाजों के पास ज्यादा जगह
9- बैठने के लिए स्लीपर कोच की तरह गद्देदार सीट

Humsafar

Tejas

 

रेलवे ने कोच के अलावा ट्रेनों का स्तर भी बढ़ाया
यात्रियों की सुविधा को देखते हुए पिछले कुछ वर्षों में रेलवे ने न सिर्फ ट्रेनों में सुरक्षित यात्रा के लिए नए संसाधन विकसित किए हैं, बल्कि आरामदायक सफर के लिए कई नई ट्रेनें भी लॉन्च की हैं. इनमें तेजस, हमसफर और अंत्योदय एक्सप्रेस ट्रेनें शामिल हैं. दीनदयालु कोच जहां जनरल बोगियों यानी अनारक्षित श्रेणी के यात्रियों की सुविधा के लिए लाए गए हैं, वहीं पूरी तरह से अनारक्षित ट्रेन भी लाई गई है. अंत्योदय एक्सप्रेस ऐसी ही ट्रेन है जिसमें सभी बोगियां अनारक्षित हैं, लेकिन इनमें कई यात्री सुविधाएं पारंपरिक अनारक्षित ट्रेनों के मुकाबले ज्यादा बेहतर हैं. वहीं, तेजस और हमसफर एक्सप्रेस जैसी ट्रेनें लॉन्च करके भारतीय रेलवे ने राजस्व बढ़ाने के नए उपाय विकसित किए हैं. तेजस और हमसफर ट्रेनों का यात्री किराया आम मेल-एक्सप्रेस ट्रेन के मुकाबले ज्यादा होता है. लेकिन यात्री सुविधाओं के मामले में ये ट्रेनें ज्यादा बेहतर रहती हैं.