Top Recommended Stories

भारत के राजचिह्न अशोक स्तंभ के हैं कई मायने, यहां जानें कुछ खास बातें

अशोक चक्र की अगर बात करें तो इसे भारत के तिरंगे झंडे में भी देखा जाता है. तिरंगे में अशोक चक्र में 24 तीलियां होती हैं. यह बौद्ध धर्मचक्र का चित्रण या यूं कहें कि धम्मचक्र परिवर्तन का चित्रण है.

Published: January 26, 2021 8:30 AM IST

By Avinash Rai

ashoka stambha,national emblem

Republic Day Special: भारत के राजचिह्न यानी अशोक चक्र केवल एक चिह्न ही नहीं अपितु भारतवर्ष के लिए ग्रंथ के समान. अशोक चक्र भारत के चक्रवर्ती सम्राट अशोक की देन है. अशोक चक्र में एकता, साहस और शक्ति का संदेश छिपा है. अशोक स्तंभ हमें यह बताता है कि सत्य ही सर्वोच्च है. आज हम आपको अशोक चक्र से जुड़ी कुछ खास बातों को बताने वाले हैं जिन्हें जानकर आपको इसकी सारगर्भिता का अंदाजा हो जाएगा.

अशोक चक्र की अगर बात करें तो इसे भारत के तिरंगे झंडे में भी देखा जाता है. तिरंगे में अशोक चक्र में 24 तीलियां होती हैं. यह बौद्ध धर्मचक्र का चित्रण या यूं कहें कि धम्मचक्र परिवर्तन का चित्रण है. इस चक्र में मौजूद 24 तीलिया इंसान के 24 गुणों को दर्शाती हैं.

You may like to read

लायन कैपिटल की अगर बात रें तो पूरे अशोक स्तंभ को कमल के फूल की आकृति के ऊपर बनाया गया है. इसमें बनाए गए बड़े स्तंभ को लायन कैपिटल कहा जाता है. बता दें कि तीसरी शताब्दी में इसका निर्माण भारत के महान शासक अशोक द्वारा करवाया गया था.

इस स्तंभ में चार शेर हैं. हालांकि सामने से केवल इसमें 3 ही शेर दिखाई देते हैं. क्योंकि एक शेर की आकृति पीछे की तरफ छिप जाती है. ये चार शेर शक्ति, साहत, आत्मविश्वास और गौरव के प्रतीक हैं.

इस स्तंभ में घोड़ा और बैल की भी आकृति आपको दिखाई पड़ती है. घोड़े और बैल के बीच एक पहिया की आकृति को भी देखा जा सकता है. स्तंभ की पूर्व दिशा की ओर हाथी, पश्चिम की ओर बैल, दक्षिण की ओर घोड़ा और उत्तर की ओर शेर दिखाई पड़ते हैं जिन्हें पहियों के माध्यम से अलग होते दिखाया गया है.

अशोक स्तंभ के निचले भाग पर भारतीय परंपरा का सर्वोच्च वाक्य यानी आदर्श वाक्य सत्यमेव जयते लिखा गया है. इसका मतलब है सत्य की विजय. बता दें कि इसे मुण्डका उपनिषद से लिया गया है.

Also Read:

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें India Hindi की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

By clicking “Accept All Cookies”, you agree to the storing of cookies on your device to enhance site navigation, analyze site usage, and assist in our marketing efforts Cookies Policy.