पुणे टेस्‍ट के पहले दिन भारतीय टीम के सलामी बल्‍लेबाज मयंक अग्रवाल ने शतकीय पारी खेली. पिछले मैच में दोहरा शतक लगाने वाले मयंक का यह लगातार दूसरे मैच में सैकड़ा था. दिन का खेल खत्‍म होने के बाद मयंक ने अपनी पारी पर संतोष व्‍य‍क्‍त करते हुए अफ्रीकी गेंदबाजी की भी जमकर तारीफ की.

पढ़ें:- भारतीय तेज गेंदबाजी अटैक पर कपिल देव का बयान, कहा- मैंने सोचा नहीं था…

मयंक ने कहा, “टीम इस वक्‍त अच्‍छी स्थिति में है. एक कम बल्‍लेबाज के साथ उतरने के बावजूद टॉस जीतकर रन बनाना काफी अच्‍छा है. बल्‍लेबाजी के वक्‍त ऐसा भी समय आया था जब रन नहीं आ रहे थे. अफ्रीका के गेंदबाजों ने काफी टाइट स्‍पेल डाले. मानसिक अनुशासन से मैंने मजबूत गेंदबाजी का सामना किया.”

मयंक ने कहा, “विकेट में मनी भी थी, जिसके कारण कगीसो रबाडा और वर्नन फिलेंडर ने बेहद कसी हुई गेंदबाजी की. हमें पता था कि रन बनाने की कोशिश में हम बीट हो जाएंगे. हमें टाइट क्रिकेट खेलने की जरूरत थी. सीधे बल्‍ले से खेलते हुए सही गेंद का इंतजार कर रन बनाने की जरूरत थी.”

पढ़ें:- IND vs SA: मयंक अग्रवाल ने जड़ा लगातार दूसरा शतकभारत ने पहले दिन बनाए 273/3

मयंक ने आगे कहा, “साउथ अफ्रीका पर दबाव डालने के लिए 450 से 500 रन का स्‍कोर जरूरी है. मैं नहीं जानता कि हमें दोबारा बल्‍लेबाजी के लिए आने की जरूरत पड़ेगी या नहीं.”