शिव थापा (63 किग्रा), मोहम्मद हस्समुद्दीन (57 किग्रा) और पीएल प्रसाद (52 किग्रा) ने चौथे एलीट पुरुष राष्ट्रीय मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक हासिल किए.

कगीसो रबाडा की स्‍लेजिंग पर पुजारा ने दी प्रतिक्रिया, कहा- मैंने उसे…

असम के शिव ने फाइनल में सेना के आकश को 4-1 से हराया. सेना के हस्समुद्दीन ने रोमांचक मुकाबले में खंडित फैसले के आधार पर रेलव के सचिन सिवाच को 3-2 से हराया.

जीत के बाद हस्समुद्दीन ने कहा, ‘यह स्वर्ण पदक मेरे लिए वास्तव में महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने के लिए मेरा आत्मविश्वास बढ़ेगा.’

सेना के पीएल प्रसाद से भी करीबी मुकाबले में रेलवे के आशीष इंशा को खंडित फैसले के आधार पर 3-2 से हराकर राष्ट्रीय खिताब का बचाव किया.

‘कगीसो रबाडा समय के साथ-साथ फिर अपने सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन की ओर बढ़ रहे हैं’

सेना के ही नवीन बूरा ने 69 किग्रा वर्ग में गुजरात के जयेश देसाई के चैम्पियन बनने का सपना तोड़ते हुए खिताब हासिल किया.

हरियाणा के अंकित खटाना और सुमित सांगवान ने क्रमश: 75 किग्रा और 91 किग्रा भार वर्ग में स्वर्ण पदक अपने नाम किए. सेना के युवा मुक्केबाज विनोद तोमर ने दमदार प्रदर्शन करते हुए फाइनल में महाराष्ट्र के अजय पेंडोर को 4-1 से हराया.

सेना ने अपना वर्चस्व बरकरार रखते हुए राष्ट्रीय खिताब का बचाव किया. सेना ने छह स्वर्ण, दो रजत और एक कांस्य सहित नौ पदक जीतने के साथ 62 अंक बनाए.

रेलवे और हरियाणा 37 और 30 अंकों के साथ क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे.