नई दिल्ली. वेस्टइंडीज के खिलाफ राजकोट में खेले सीरीज के पहले टेस्ट में पृथ्वी शॉ ने धमाकेदार शतक जड़ा. 18 साल के शॉ ने 154 गेंदों का सामना करते हुए 134 रन की बेजोड़ पारी खेली, जिसमें 19 चौके शामिल रहे. इसी के साथ वो टेस्ट डेब्यू में शतक ठोकने वाले भारत के सबसे युवा बल्लेबाज बने. यही नहीं वो सचिन तेंदुलकर के बाद टेस्ट शतक लगाने वाले दूसरे युवा भारतीय क्रिकेटर भी बन चुके हैं. पर, क्या आप जानते हैं कि वर्ल्ड क्रिकेट में टेस्ट शतक लगाने वाले दूसरे टीनेजर बल्लेबाज भी हैं. आईए आपको रूबरू कराते हैं टेस्ट शतक लगाने वाले 5 युवा बल्लेबाजों, जिन्होंने पृथ्वी शॉ से भी कम उम्र में ये कमाल किया है.

मोहम्मद अशरफुल- 17 साल 61 दिन

pjimage (10)

2001 में 17 साल के मोहम्मद अशरफुल ने बतौर मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज बांग्लादेश के लिए श्रीलंका के खिलाफ डेब्यू किया. अपनी पहली पारी में अशरफुल ने 26 रन बनाए, जिसमें बांग्लादेश की पूरी टीम सिर्फ 90 रन पर ऑल आउट हो गई. लेकिन, दूसरी पारी में जब बांग्लादेश श्रीलंका से 465 रन पीछे थी, अशरफुल ने 114 रन की बेमिसाल पारी खेली और टेस्ट डेब्यू में शतक ठोकने वाले सबसे युवा बल्लेबाज बने.

मुश्ताक मोहम्मद- 17 साल 78 दिन

pjimage (12)

1959 में मुश्ताक मोहम्मद ने 15 साल और 124 दिन में ही पाकिस्तान के लिए टेस्ट डेब्यू किया था. लेकिन उनके लिए बड़ा मौका 1961 में आया जब उन्होंने टेस्ट शतक लगाने वाले युवा बल्लेबाजों के क्लब में अपना नाम दर्ज कराया. मुश्ताक ने दिल्ली के फिरोज शाह कोटला मैदान पर भारत के खिलाफ खेलते हुए शानदार 101 रन बनाए.

सचिन तेंदुलकर- 17 साल 107 दिन

pjimage (11)

सचिन ने साल 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ 16 साल की उम्र में कराची में टेस्ट डेब्यू किया. डेब्यू सीरीज में सचिन ने 2 अर्धशतक लगाए पर शतक से दूर रहे. मास्टर ब्लास्टर ने मैनचेस्टर में खेले अपने करियर के 9वें टेस्ट में पहला टेस्ट शतक जड़ा. 17 साल की उम्र में इंग्लैंड के खिलाफ शानदार बल्लेबाजी की नुमाइश करते हुए सचिन ने बेहतरीन 119 रन बनाए.

हैमिल्टन मसकजदा- 17 साल 352 दिन

pjimage (13)

जिम्बाब्वे के हैमिल्टन मसकजदा की गिनती अपने देश के सबसे बेहतरीन ओपनिंग बल्लेबाजों में की जाती है. 2001 में जब उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया तब उस वक्त अपने डेब्यू पर शतक ठोकने वाले वो सबसे युवा बल्लेबाज थे. पहली पारी में 9 रन बनाने के बाद मसकजदा ने 216 रन से पीछे चल रही जिम्बाब्वे की टीम को दूसरी पारी में अपने शतक के जरिए शानदार तरीके से उबारा था. करीब 6 घंटे तक बल्लेबाजी करते हुए मसकजदा ने 316 गेंदों का सामना किया और 119 रन बनाए थे.

इमरान नजीर- 18 साल 154 दिन

pjimage (14)

साल 1999 में पाकिस्तान के इमरान नजीर ने 17 साल की उम्र में टेस्ट डेब्यू किया और 64 रन की शानदार पारी खेली. इस प्रदर्शन के बूते इमरान को मई 2000 में पाक टेस्ट टीम में दोबारा चांस मिला और उन्होंने शानदार सैंकड़ा जड़ा. शतक ठोकने वाले वो दूसरे युवा पाकिस्तानी बल्लेबाज बने. वेस्टइंडीज के खिलाफ बारबाडोस टेस्ट में इमरान ने 131 रन की पारी खेलते हुए पाकिस्तान के लिए टेस्ट मैच सेव किया था.