भारत और पाकिस्तान की क्रिकेट टीमें जब भी एक दूसरे के खिलाफ मैदान पर उतरती हैं तो एक अलग ही माहौल बनता है। ना केवल खिलाड़ियों बल्कि दोनों टीमों के फैंस के बीच प्रतिद्वंद्विता बढ़ जाती है, वहीं अक्सर से प्रतिद्वंद्विता खेल भावना की सीमा को पार कर जाती है। ऐसा ही कुछ पिछले साल इंग्लैंड में खेले गए विश्व कप के दौरान हुआ। Also Read - रिषभ पंत बोले- इस बल्‍लेबाज के साथ खेलते वक्‍त दिमाग लगाने की जरूरत ही नहीं पड़ती

भारतीय क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर विजय शंकर (Vijay Shankar) ने बताया कि 2019 के विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ मैनचेस्टर में होने वाले मैच से एक दिन पहले एक पाकिस्तान फैन ने उन्हें और उनके एक साथी खिलाड़ी को अपशब्द कहे थे। Also Read - अपने देश में क्रिकेट खेल रहे इंग्‍लैंड का सितंबर में भारत दौरे से पीछे हटना तय, BCCI के कान हुए खड़े !

अपना पहला विश्व कप खेलने वाले शंकर ने खुलासा किया कि किस तरह प्रशंसक ने दोनों खिलाड़ियों को उकसाने की कोशिश की और पूरे समय अपना मोबाइल रिकॉर्डर ऑन किया हुआ था। Also Read - ICC Test Rankings: गेंदबाजों की सूची में दूसरे स्थान पर पहुंचे जेसन होल्डर

भारत आर्मी पॉडकॉस्ट में में शंकर ने कहा, “इसलिए मैच से एक दिन पहले उन्होंने मुझसे कहा कि तैयार रहें, आप कल खेलेंगे। और मैंने कहा ठीक है। मैच से एक दिन पहले टीम के कुछ खिलाड़ी कॉफी पीने के लिए बाहर आए थे, जब एक पाकिस्तान फैन हमारे पास आया और हमें अपशब्द कहने लगा।”

भारत और पाकिस्तान के बीच 2019 विश्व कप का लीग मैच 16 जून को खेला गया था। उन्होंने कहा, “वो भारत-पाकिस्तान मैच का मेरा पहला अनुभव था। हमें उसे सुनना पड़ा। वो हमें अपशब्द कह रहा था और सब कुछ अपने फोन पर रिकॉर्ड कर रहा था, इसलिए हम प्रतिक्रिया नहीं दे सके। हम केवल वहां बैठे रहे और ये देखते रहे कि वो क्या कर रहा है।”

मैच से पहले वो काफी नर्वस थे। शंकर ने बताया कैसे उनके साथी खिलाड़ी दिनेश कार्तिक ने उनकी मदद की। उन्होंने कहा, “मेरे लिए कमरे में बैठकर कुछ ना कर पाना बहुत मुश्किल हो रहा था। मैं कॉफी के लिए बाहर जाना चाहता था और मेरे साथ दिनेश कार्तिक थे। इसलिए हम दोनों कॉफी के लिए बाहर निकले थे। हम साथ में मजे करते थे जो कि बेहद अहम था, मुझे लगता है दबाव बहुत ज्यादा था। इसलिए हम थोड़े देर के लिए बाहर जाकर मजे करना चाहते थे।”

शंकर का पहला विश्व कप मैच उतना शानदार रहा, जिसकी कोई खिलाड़ी कल्पना कर सकता है। बल्लेबाजी करते हुए नाबाद 15 रन बनाने के बाद शंकर को गेंदबाजी का मौका तब मिला जब भुवनेश्वर कुमार हैमस्ट्रिंग की वजह से मैदान से बाहर चले गए और विराट कोहली ने उन्हें गेंदबाजी का जिम्मा दिया। नई गेंद का साथ शंकर ने पाकिस्तान सलामी बल्लेबाज इमाम उल हक को एलबीडब्ल्यू आउट किया। उनके लिए ये ड्रीम डेब्यू था।