भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर और वर्तमान में कमेंटेटर की भूमिका निभा रहे आकाश चोपड़ा इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं. कोविड-19 महामारी के कारण लॉकडाउन घोषित होने के बाद सभी क्रिकेटर इस समय अपने घरों में कैद होने को मजबूर हैं. आकाश ने इस दौरान इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस की अपनी ऑल टाइम प्लेइंग इलेवन टीम चुनी है.Also Read - मयंक अग्रवाल की जगह पृथ्वी शॉ और शुभमन गिल को भारतीय टेस्ट टीम में मौका मिले: हरभजन सिंह

दिल्ली के इस पूर्व ओपनर ने मुंबई इंडियंस की कमान दिग्गज सचिन तेंदुलकर की बजाए रोहित शर्मा को सौंपी है. हालांकि रोहित का कप्तानी में रिकॉर्ड बेजोड़ है. तेंदुलकर ने मुंबई इंडियंस की अगुआई 55 मैचों में की जिसमें से 32 मैचों में जीत मिली. यानी मुंबई की जीत का प्रतिशत 58.18 रहा. Also Read - मैदान पर कभी कभी हो जाती है गर्मागर्मी; जसप्रीत बुमराह के साथ विवाद पर बोले मार्को जेनसन

रोहित ने 109 मैचों में मुंबई की कप्तानी की है जिसमें से उन्हें 64 मैचों में जीत मिली है. रोहित मुंबई की ओर से सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. उन्होंने 143 मैचों में 3728 रन बनाए हैं. इसके अलावा उन्होंने अपनी कप्तानी में 4 बार मुंबई को खिताब दिलाया है. आकाश ने ये टीम अपने शो ‘आकाशवाणी’ में चुनी है. Also Read - Rohit Sharma होंगे भारत के नए टेस्ट कप्तान, जल्द होगा ऐलान: रिपोर्ट

चोपड़ा ने ओपनिंग की जिम्मेदारी तेंदुलकर और सनथ जयसूर्या को दी है जबकि तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए रोहित को उतारा है. आकाश ने चौथे और पांचवें नंबर पर क्रमश: विकेटकीपर बल्लेबाज अंबाती रायडू और किरोन पोलार्ड को रखा है. साल 2018 में चेन्नई सुपरकिंग्स से जुड़ने से पहले रायडू ने मुंबई के साथ 8 साल बिताए.

दो ऑलराउंडर को दी जगह

आकाश ने अपनी टीम में हार्दिक और क्रुणाल पांड्या को बतौर ऑलराउंडर जगह दी है. मुंबई इंडियंस के साथ जुड़ने के बाद पांड्या ब्रदर्स ने कई उपलब्धियां हासिल की है. हार्दिक ने मुंबई के लिए 66 मैचों में 1068 रन बनाने के अलावा 42 विकेट भी चटकाए हैं वहीं क्रुणाल ने 55 मैचों में 891 रन के साथ 40 विकेट निकाले हैं.

आकाश चोपड़ा की ऑल टाइम मुंबई इंडियंस XI इस प्रकार है :

सचिन तेंदुलकर, सनथ जयर्सूया, रोहित शर्मा (कप्तान), अंबाती रायडू (विकेटकीपर), किरोन पोलार्ड, क्रुणाल पांड्या, हार्दिक पांड्या, हरभजन सिंह, जसप्रीत बुमराह, लसिथ मलिंगा और जहीर खान.