भारतीय टेस्ट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज आकाश चोपड़ा (Akash Chopra) ने उन पाकिस्तानी खिलाड़ियों को आड़े हाथों लिया है, जिन्होंने कहा था कि भारत 2019 विश्व कप (ICC World Cup 2019) में इंग्लैंड के खिलाफ (India vs England) जानबूझकर इसलिए हारा ताकि पाकिस्तान सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाए। आकाश ने अपने यूट्यूब शो आकाशवाणी में कहा, “मैं वो टी-शर्ट पहने हूं जिसमें लिखा है है शर्म नॉट फाउंड (शर्म नहीं मिली)। Also Read - ECB पर बरसे केविन पीटरसन, अगर हम पूरी क्षमता से नहीं उतरे तो ये भारतीय टीम का अपमान होगा

थोड़ा सोचो और शर्म करो। आईसीसी के ब्रांड एम्बेसडर होने के बाद भी वकार यूनिस ने (Waqar Younis) विश्व कप के दौरान बयान दिया था कि भारत ने जानबूझकर मैच गंवा दिया। वाकई।” Also Read - शुबमन गिल ने किया खुलासा- करियर की शुरुआत में हुई इस घटना के बाद खत्म हो गया बाउंसर का डर

भारत को उस मैच में इंग्लैंड द्वारा रखे गए 338 रनों के लक्ष्य का पीछा करना था। इस मैच में भारत की जीत पाकिस्तान को नॉकआउट में पहुंचा देती। भारत हालांकि पांच विकेट पर 306 रन ही बना सकी थी। इंग्लैंड टीम के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने अपनी किताब ‘बेन स्टोक्स ऑन फायर’ में उस मैच में भारतीय बल्लेबाजों की एप्रोच पर सवाल उठाए हैं। Also Read - IND vs ENG: भारत के लिए रवाना हुए इंग्लिश ऑलराउंडर बेन स्टोक्स; फैंस ने कहा Welcome to India

स्टोक्स की किताब के कारण कई पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने भारत को घेरा। पूर्व ऑलराउंडर अब्दुल रज्जाक (Abdul Razzak ) ने तो यहां तक कह दिया कि इसके लिए फाइन और पेनाल्टी होनी चाहिए। स्टोक्स ने बाद में खुद कहा था कि उन्होंने यह कभी नहीं कहा कि भारत जानबूझकर उस मैच को हारा।

आकाश ने कहा, “विराट कोहली और रोहित शर्मा की साझेदारी का स्टोक्स के लिए मतलब न हो, या वह महेंद्र सिंह धोनी की एप्रोच से असमंजस में पड़ गए हों, यह समझ में आता है, लेकिन उन्होंने कभी नहीं कहा कि भारत जानबूझकर मैच हारा। पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी साफतौर पर कह रहे हैं कि भारत जानबूझकर हारा और आईसीसी को उस पर जुमार्ना लगा देना चाहिए। आप इस तरह से कैसे सोच सकते हैं?”

उन्होंने कहा, “उस समय भारत के लिए ज्यादा जरूरी था कि वह ग्रुप में शीर्ष पर रहे। भारत उस ग्रुप दौर में सिर्फ एक मैच हारी और वो इत्तेफाक से इंग्लैंड के खिलाफ था।”