भारत के खिलाफ वनडे सीरीज में हार के बाद ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एरोन फिंच ने टीम इंडिया के दो स्टार बल्लेबाजों विराट कोहली और रोहित शर्मा को वनडे फॉर्मेट का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज बताया। तीन मैचों की इस सीरीज में सर्वाधिक रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाजों की सूची में कप्तान कोहली (183 रन) पहले और रोहित (171 रन) दूसरे स्थान पर हैं।

बैंगलुरू वनडे के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान फिंच ने कहा, “वो महान हैं, उनके पास विराट है जो शायद वनडे का महानतम खिलाड़ी है, उनके पास रोहित है जो वनडे के टॉप-5 सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक हैं। वो शानदार हैं। भारतीय टीम के इस बल्लेबाजी क्रम में काफी अनुभवी खिलाड़ी हैं और ये अच्छी टीम का संकेत है।”

कुछ रन पीछे रह गई ऑस्ट्रेलिया

एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए निर्णायक मैच में ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज फिंच और डेविड वार्नर दोनों ही सस्ते में आउट हो गए, जिसका असर टीम के स्कोर पर पड़ा। हालांकि स्टीव स्मिथ की 131 रनों की पारी के दम पर कंगारू टीम ने 286 रन का स्कोर खड़ा किया लेकिन कप्तान ने माना कि वो थोड़े रन पीछे रह गए।

फिंच ने कहा, “मुझे लगा कि हम कुछ रन पीछे रन गए। जैसे ही हमने एक पारी बनाना शुरु किया , हमने एक विकेट खो दिया और हमें फिर से पारी बनाना शुरू करना पड़ता था। लड़के अब भी सीख रहे हैं, हमारे मध्य क्रम ने एक साथ ज्यादा क्रिकेट नहीं खेला है। मुझे लगता है कि इस सीरीज में हमारे लिए सकारात्मक चीजें थीं।”

मिशेल स्टार्क को मध्य क्रम में उतारना आक्रामक कदम था

बैंगलुरू वनडे में फिंच के रन आउट के बाद दूसरा सबसे चौंकाने वाला पल तब आया जब तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए। हालांकि फिंच की रणनीति सफल नहीं हुई क्योंकि स्टार्क बिना खाता खेले रवींद्र जडेजा की गेंद पर आउट हो गए।

इस फैसला पर कंगारू कप्तान ने कहा, “हमें लगा कि स्टार्क को मध्य क्रम में उतारना आक्रामक कदम था। वो बाएं हाथ के स्पिनर्स को अटैक कर सकता है, हमें उम्मीद थी कि वो दो-तीन छक्के लगा सकता है और स्पिनर्स को लाइन से भटका सकता है। कदम सफल नहीं हुआ लेकिन फिर भी ये आक्रामक कदम था।”