नई दिल्ली। रिकॉर्डों के शहंशाह द. अफ्रीकी बल्लेबाज एबी डिविलियर्स ने अचानक इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान कर अपने फैंस को चौंका दिया. आईपीएल 11 में खूब रन बरसा रहे डिविलियर्स ने कहा कि वह अब थक चुके हैं और इससे दूर होने का यही सबसे अच्छा वक्त है. गेंदबाजों के लिए डिविलियर्स परेशानी का दूसरा नाम बने हुए थे. जब तक वह क्रीज पर होते, टीम की जीत की उम्मीद बनी रहती.

डिविलियर्स ने अपने 14 साल के करियर में एक से बढ़कर रिकॉर्ड अपने नाम किए. साल 2015 में तो वह रन मशीन ही बन गए थे. इस दौरान वेस्टइंडीज के खिलाफ उनका बल्ला कहर बरपाता रहा. साल 2015 में मेहमान वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन बड़े रिकॉर्ड बनाए.

-साल 2015 में उन्होंने घरेलू मैदान जोहानिसबर्ग में वेस्ट इंडीज़ के खिलाफ सिर्फ 31 गेंदों पर शतक ठोका था.

-अपनी इसी पारी में उन्होंने मात्र 16 गेंदों पर 50 रन बनाकर वन-डे मैचों की सबसे तेज़ अर्द्धशतकीय पारी का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया था.

अपनी बल्लेबाजी से तूफान मचाने वाले डीविलियर्स ने रिटायरमेंट का ऐलान कर चौंकाया

-वनडे में सबसे तेज 150 रन बनाने का रिकॉर्ड भी उनके ही नाम है. इसके उन्होंने 2015 में सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर वेस्टइंडीज के खिलाफ सिर्फ 64 गेंदों पर 150 रन बनाए थे.

-डिविलियर्स फरवरी 2017 में वनडे क्रिकेट में सबसे तेजी से 9000 रन पूरे करने वाले बल्लेबाज बने. उन्होंने सौरव गांगुली का 13 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा था.

-डिविलियर्स ने क्रिकेट इतिहास के सबसे तेज वनडे शतक के दौरान 16 छक्के लगाए थे. इस तरह डिविलियर्स ने रोहित शर्मा की बराबरी की थी, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 209 रनों की पारी के दौरान 16 छक्के लगाए थे.

मि. 360 के नाम से मशहूर

अपनी तरह की शैली की बल्लेबाजी के लिए डिविलियर्स मशहूर रहे हैं. वह मैदान के हर ओर शॉट मार सकते थे. इसी खूबी के चलते उन्हें मिस्टर 360 भी कहा जाता था. रिवर्स स्वीट और स्कूल से मारे गए चौके और छक्के देखते बनते थे. इसके अलावा फील्डिंग और कैचिंग में उनका कोई सानी नहीं था. हाल ही में आईपीएल मैच के दौरान उन्होंने बाउंड्री पर हवा में उड़कर जबरदस्त कैच पकड़ा था जिसे देखकर हर कोई हैरान रह गया था.