नई दिल्ली। इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेकर द. अफ्रीका के दिग्गज बल्लेबाज और क्रिकेट के सुपरमैन कहे जाने वाले एबी डिविलियर्स ने क्रिकेट प्रेमियों को बड़ा झटका दिया. क्रिकेट की रन मशीन बच चुके डिविलियर्स की तूफानी बल्लेबाजी का लुत्फ अब देखने को नहीं मिलेगा. डिविलियर्स पूरी तरह फॉर्म में चल रहे थे. भारत के खिलाफ हुई सीरीज में उन्होंने काफी रन बटोरे थे. आईपीएल में भी उनका शानदार फॉर्म बरकरार दिखा, तो फिर उन्होंने अचानक संन्यास का ऐलान क्यों किया, ये सवाल हर क्रिकेट प्रेमी के जेहन में है.

टेस्ट मैच खेलना कर दिया था कम

डिविलियर्स वर्ल्ड कप जीतने की ख्वाहिश कई बार जता चुके थे. यह कई बार कह चुके थे कि उनका लक्ष्य दक्षिण अफ्रीका को 2019 वर्ल्डकप में जीत दिलाना है. यही वजह है कि उन्होंने टेस्ट मैच खेलना कम कर दिया था. डिविलियर्स महज 34 साल के हैं और उनका इंटरनेशनल करियर काफी अच्छा चल रहा था. वह क्रिकेट के हर फॉर्मेट में रन बना रहे थे. ये उनका आखिरी वर्ल्डकप ही होता, लेकिन उन्होंने पहले ही अलविदा कह दिया. उनके इस फैसले से हर कोई हैरान है. सोशल मीडिया पर फैंस उनसे फैसला वापस लेने की गुहार लगा रहे हैं.

सुपरमैन क्रिकेटर एबी डिविलियर्स के ये 5 रिकॉर्ड भुलाना नामुमकिन, ऐसे ही नहीं कहलाते थे ‘मिस्टर 360’ 

20 हजार से ज्यादा रन बनाए

अपने खास और करारे शॉट, शानदार फील्डिंग के कारण दर्शकों के पसंदीदा दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान डिविलियर्स ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सभी प्रारूपों में 420 मैच खेले और 47 शतकों की मदद से 20,000 से अधिक रन बनाए. उन्होंने कहा कि अब उनका शरीर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की कड़ी परीक्षा से गुजरने की स्थिति में नहीं है.

कहा- मैं थक चुका हूं

डिविलियर्स ने अपने ट्विटर पेज पर पोस्ट किये गये वीडियो में कहा, मैंने तुरंत प्रभाव से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास लेने का फैसला किया है. 114 टेस्ट , 228 वनडे और 78 टी 20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने के बाद अब समय है कि कोई अन्य जिम्मेदारी संभाले. मेरा अपना समय था और ईमानदारी से कहूं तो मैं थक चुका हूं.

क्रिकेट छोड़ने का वक्त आ गया है

उन्होंने कहा, यह मुश्किल फैसला है. मैंने इस पर बहुत सोच विचार किया और मैं अच्छी क्रिकेट खेलते हुए संन्यास लेना चाहता हूं. भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार जीत के बाद अब अलविदा कहने का समय है.