नई दिल्ली: पाकिस्तान के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी अब्दुज रज्जाक 38 साल की उम्र में एक बार फिर क्रिकेट में वापसी करेंगे. अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच पांच साल पहले और घरेलू मैच तीन साल पहले खेलने वाले रज्जाक ने डोमेस्टिक फर्स्ट क्लास टूर्नामेंट ‘कायदे आजम ट्रॉफी’ में खेलने के लिए पाकिस्तान टेलीविजन के साथ करार किया है. उनका लक्ष्य अगले साल होने वाले पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) के चौथे सत्र में खेलने का है.

रज्जाक ने कहा कि टीवी चैलन पर विशेषज्ञ के तौर पर जुड़ने के बाद पूर्व टेस्ट खिलाड़ी मोहम्मद वसीम ने उन्हें फिर से मैदान पर उतरने की सलाह दी. उन्होंने कहा, ‘‘मोहम्मद वसीम ने मुझे फिर से खेलने के लिए प्रेरित किया. मुझे खेल से अब भी लगाव है. मैंने एक बार और हाथ आजमाने का फैसला किया है. मुझे पीटीवी की ओर से करार का प्रस्ताव मिला और मैं उनके लिए फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलूंगा. मुझे पता है मैं अब पाकिस्तान के लिए नहीं खेल सकता हूं और यह मेरा लक्ष्य भी नहीं है. मेरा लक्ष्य पीएसएल के एक-दो सत्र में खेलने का है.’’

गेल का बल्ला बोला तो टूटेगा IPL का बड़ा रिकॉर्ड, ऐसा करने वाले दूसरे खिलाड़ी बनेंगे क्रिस

गौरतलब है कि पाकिस्तानी खिलाड़ी अब्दुल रज्जाक ने पाकिस्तान की ओर से खेलते हुए जिम्बावे के खिलाफ नवम्बर 1996 में वनडे इंटरनेशनल मैच में डेब्यू किया था. इसके बाद उन्होंने कुल 265 वनडे मुकाबले खेले. इस दौरान रज्जाक ने 5080 रन बनाए, जिसमें 3 शतक और 23 अर्धशतक शामिल रहे. उन्होंने अच्छी गेंदबाजी करते हुए 269 विकेट भी झटके हैं. इस दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 35 रन देकर 6 विकेट लेना रहा. रज्जाक ने आखिरी इंटरनेशनल वनडे नवम्बर 2011 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था.

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट में नए युग की होगी शुरुआत, इस प्रतिभाशाली खिलाड़ी को मिली कप्तानी

इसी तरह उन्होंने अपना पहला टेस्ट मैच नवम्बर 1999 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था. इसके बाद रज्जाक ने 46 टेस्ट मैच की 77 पारियों में 1946 रन बनाए. इस दौरान उन्होंने 3 शतक और 7 अर्धशतक भी जड़े. रज्जाक ने 100 टेस्ट विकेट भी लिए हैं. इसके अलावा रज्जाक का घरेलू क्रिकेट करियर भी काफी अच्छा रहा है. उन्होंने फर्स्ट क्लास मैचों में 5371 रन और लिस्ट ए के मैचों में 6638 रन बनाए हैं. इसके अलावा दमदार गेंदबाजी करते हुए 300 से ज्यादा विकेट भी ले चुके हैं.