कर्नाटक प्रीमियर लीग स्पॉट फिक्सिंग मामले में अब पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज अभिमन्यू मिथुन (Abhimanyu Mithun) को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। मामले की जांच कर रही सीसीबी शाखा ने इससे पहले कर्नाटक के कई घरेलू क्रिकेटर्स को गिरफ्तार भी किया था लेकिन मिथुन पहले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर हैं जो इस मामले की जांच से जुड़े हैं।

खबर पर ज्वाइंट कमिश्नर ऑफ पुलिस (क्राइम) संदीप पाटिल ने कहा, “हां, हमने मिथुन को सीसीबी के सामने पेश होने के लिए कहा है।” पाटिल ने ये भी बताया कि चूंकि मिथुन राष्ट्रीय टीम के लिए खेल चुके हैं, इस वजब से भारतीय क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई को भी जानकारी दी गई है।

बता दें कि मिथुन भारत के लिए चार टेस्ट और पांच वनडे मैच खेल चुके हैं। मामले से जुड़े एक अधिकारी ने कहा, “हमने मिथुन के लिए पिछले केपीएल सीजन के दौरान हुए मैचों से जुड़े कुछ सवाल तैयार किए हैं।”

‘तेज गेंदबाजों की अगली पीढ़ी के लिए रोल मॉडल हैं इशांत, शमी, उमेश, भुवनेश्वर और बुमराह’

फिलहाल मिथुन सूरत में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी खेल रहे हैं। मिथुन कर्नाटक प्रीमियर लीग में मलनाड ग्लैडिएटर्स, बीजापुर बुल्स और शिवामोग्गा लॉयन्स के लिए खेल चुके हैं।

केपीएल टूर्नामेंट फिक्सिंग मामले में अब तक कुल आठ लोगों की गिरफ्तारियां हो चुकी हैं, जिसमें कुछ क्रिकटर भी हैं।