नई दिल्ली : आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के कप्तान आरोन फिंच ने भारत के साथ रविवार को हुए विश्व कप मुकाबले के दौरान अपने स्पिन गेंदबाज एडम जाम्पा द्वारा बॉल टेम्परिंग किए जाने की अटकलों को खारिज कर दिया है. मैच के दौरान जाम्पा को गेंदबाजी के वक्त बार-बार अपना हाथ जेब में ले जाते देखा गया. इससे यह अटकलें लगाई जा रही हैं कि जाम्पा अपनी जेब में ले कुछ निकालकर गेंद पर लगा रहे थे और फिर गेंदबाजी कर रहे थे.

भारत ने इस मैच में ऑस्ट्रेलिया को 36 रनों से हराया. इस मैच में जाम्पा को एक भी विकेट नहीं मिला और उन्होंने 6 ओवर गेंदबाजी करते हुए 50 रन खर्च किए. गेंदबाजी के दौरान जेब में हाथ लिए जाम्पा की तस्वीरें वायरल हो रही हैं और इससे यह अटकलें लगाई जा रही हैं कि वह बॉल टेम्परिंग में शामिल थे. इसे लेकर जाम्पा की स्थिति साफ करते हुए कप्तान ने कहा कि ऐसा कुछ भी नहीं है और जाम्पा की जेब में हाथ ले जाने की पुरानी आदत है.

टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया से लिया बदला, कोहली ने सेमीफाइनल पर दी प्रतिक्रिया

फिंच ने मैच के बाद कहा, “मैंने वे तस्वीरें नहीं देखीं लेकिन मैं इतना जरूर जानता हूं कि उन्होंने अपनी जेब में वार्मर (गर्माहट देने वाली वस्तु) रख रखी थी. वह हर मैच में वार्मर अपने साथ रखते हैं.”

देखें वीडियो :

विश्वकप 2019: बॉलर्स के लिए मुसीबत बनी LED बेल्स, कोहली-फिंच ने जताई नाराजगी

ऑस्ट्रेलिया पर से न्यूलैंड्स टेस्ट के दौरान हुए सैंडपेपर घटना की साया अभी भी बनी हुई है. उस मैच में तीन खिलाड़ी डेविड वार्नर, स्टीवन स्मिथ और कैमरन बैंक्राफ्ट बॉल टेम्परिंग के दोषी पाए गए थे. वॉर्नर और स्मिथ पर एक साल का प्रतिबंध लगा था और बैंक्राफ्ट पर नौ महीने का प्रतिबंध लगाया गया था.