लखनऊ में अफगानिस्‍तान-‍वेस्‍टइंडीज के बीच जारी सीरीज के दौरान विंडीज के विकेटकीपर बल्लेबाज निकोलस पूरन ने ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व कप्‍तान स्‍टीव स्मिथ वाली गलती को दोहरा दिया. पूरन तीसरे वनडे मैच में गेंद से छेड़छाड़ करते हुए पाए गए, जिसके चलते उनपर चार मैचों का प्रतिबंध लगाया गया है.

पढ़ें:- ये हैं दीपक चाहर की बहन, भाई के लिए लिखा ये मैसेज…आने लगे खूब कॉमेंट्स

आईसीसी ने निकोलस पूरन को उनकी गलती से अवगत कराया. उन्‍होंने अपराध के लिए सार्वजनिक तौर पर माफी मांगी. पूरन पर चार टी20 मैचों का प्रतिबंध लगाने के साथ-साथ आईसीसी ने उन्‍हें पांच डिमैरिट प्‍वाइंट भी दिए हैं.

विंडीज का यह विकेटकीपर बल्‍लेबाज अब चार टी20 मैचों में नहीं खेल पाएंगे. आईसीसी की तरफ से जारी बयान में कहा गया, ‘‘खिलाड़ियों और खिलाड़ियों के सहयोगी स्टाफ से जुड़ी आईसीसी आचार संहिता के लेवल तीन के उल्लंघन की बात स्वीकार करने के लिए निकोलस पूरण को चार मैचों के प्रतिबंध के साथ-साथ 5 डिमैरिट प्‍वाइंट दिए गए हैं.’’

पढ़ें:- IND vs BAN: इंदौर टेस्‍ट के लिए तैयारियां पूरी, ऐसा हो सकता है भारत का प्‍लेइंग इलेवन

‘‘मैच की वीडियो फुटेज में पता चला कि निकोलस पूरन अंगूठे के नाखून से गेंद की सतह को खरोंच रहे हैं. जिसके बाद उनपर आईसीसी की संहिता के नियम 2.14 के उल्लंघन का आरोप लगाया गया था जो गेंद की स्‍वरूप को बदलने से जुड़ा है.’’

निकोलस पूरन ने इसपर कहा, ‘‘मुझे पता चल गया है कि मैंने फैसला करने में बहुत बड़ी गलती की और मैं आईसीसी की सजा को पूरी तरह से स्वीकार करता हूं. मैं सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि यह एकमात्र घटना है और यह दोहराई नहीं जाएगी.’’

पढ़ें:- आईसीसी वनडे रैंकिंग: बल्लेबाजों में विराट कोहली तो गेंदबाजों में जसप्रीत बुमराह टॉप पर कायम

‘‘लखनऊ में सोमवार को खेल के मैदान पर जो हुआ उसके लिए मैं टीम के अपने साथियों, समर्थकों और अफगानिस्तान की टीम से माफी मांगना चाहता हूं.’’

लेवल तीन के उल्लंघन पर कम से कम चार निलंबन अंक दिए जाते हैं जिससे खिलाड़ी के रिकॉर्ड में पांच डिमेरिट अंक जुड़ जाते हैं. खिलाड़ियों को इसके लिए दो टेस्ट मैच या चार एकदिवसीय अंतराष्ट्रीय/टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों से प्रतिबंधित किया जाता है. अधिकतम सजा 12 निलंबन अंक की है जो छह डिमेरिट अंक के बराबर है.