भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (AFI) ने सोमवार को अपने खिलाड़ियों से देशव्यापी लॉकडाउन के बीच मानसिक रूप से मजबूत रहने और तोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) के स्थगित होने से मिले अतिरिक्त समय का लाभ उठाने का सुझाव दिया। Also Read - Coronavirus: मिनटों में कोरोना का पता लगाने वाली Feluda पेपर स्ट्रिप जांच को लेकर ICMR ने जारी की एडवायजरी

ओलंपिक का आयोजन इस साल जुलाई-अगस्त में होना था लेकिन कोविड-19 महामारी के कारण उसे अगले साल के लिए स्थगित कर दिया गया है। Also Read - पीएम मोदी बोले- भारत ने सबसे पहले लगाया लॉकडाउन इसलिए आ रही करोना के मामलों में कमी

एएफआई की योजना समिति ने राष्ट्रीय शिविरों में भाग ले रहे खिलाड़ियों , कोचों और सहायक कर्मचारियों के साथ एक ऑनलाइन बैठक कर ये संदेश दिया। योजना समिति ने खिलाड़ियों को लॉकडाउन के मद्देनजर शारीरिक फिटनेस और पोषण पर ध्यान देने का सुझाव दिया। Also Read - सात महीने बाद सिर्फ एक दिन के लिए खुला 'बांके बिहारी मंदिर', फिर से बंद किए गए कपाट, ये है बड़ी वजह

एएफआई के अध्यक्ष अदिल सुमरिवाला ने एथलीटों से कहा, ‘‘हमें वास्तव में खुशी है कि आप सभी पटियाला, बेंगलुरु और ऊटी के शिविरों में फिट और सुरक्षित हैं। ओलंपिक 2020 की जगह 2021 में होंगे। उसके बाद विश्व चैंपियनशिप, एशियाई खेल और राष्ट्रमंडल खेल 2022 में होने है जो कड़ी चुनौती होगी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमें इसका फायदा उठाना होगा। इस अवसर का उपयोग करना होगा और आपको आज से ही इन चुनौतियों के लिए मानसिक रूप से तैयार रहना होगा।’’