नई दिल्ली. कहते हैं गेल जब फेल होते हैं तो विरोधी टीमों को सुकून मिलता है और जब खेलते हैं तो हवाईयां उड़ा देते हैं. हरारे में गेल ने अपने बल्ले से ऐसा हल्ला बोला कि यूएई के गेंदबाजों को दिन में तारे दिखा दिए. यूएई के खिलाफ वर्ल्ड कप क्वालिफायर मैच में गेल ने सिर्फ 91 गेंदों पर 11 छक्कों के दम पर 123 रन ठोक दिए. पिछले 3 साल में ये पहली बार है जब वनडे क्रिकेट में गेल के बल्ले से कोई शतक निकला है.

यूएई के खिलाफ शतक जमाते ही गेल 11 देशों के खिलाफ वनडे शतक जमाने वाले दुनिया के तीसरे खिलाड़ी बन गए हैं. इससे पहले ये कमाल मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज हाशिम अमला के नाम ही दर्ज था. लेकिन अब इस लिस्ट में क्रिस गेल ने भी अपना नाम लिखवा लिया है.

यूएई के खिलाफ वर्ल्ड कप क्वालिफायर्स के वॉर्मअप मैच में वेस्टइंडीज़ के कप्तान जेसन होल्डर ने टॉस जीककर पहले बल्लेबाज़ी का फैसला किया. कैरिबियाई टीम के लिए पारी की शुरुआत करने उतरे गेल ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की नुमाइश की. गेल ने आते ही बाउंड्री की बौछार कर दी, जिससे यूएई की टीम बैकफुट पर चली गई. गेल इस कदर खतरनाक दिखे कि उन्होंने सिर्फ 91 गेंदों की पारी में 123 रन ठोक डाले. उनकी इस धाकड़ पारी में 11 गगनचुंबी छक्के और 7 चौके शामिल रहे. हालांकि , गेल ने शतक तक पहुंचने के लिए सिर्फ 79 गेंदे ही खेली, जिसमें 8 छक्के और 7 चौके शामिल थे. ये गेल के करियर का 23वां वनडे शतक है.

क्रिस गेल ने 3 साल के बाद वनडे क्रिकेट में कोई शतक ठोका है. इससे पहले उन्होंने 24 फरवरी 2015 को जिम्बाब्वे के खिलाफ वर्ल्ड कप में सेंचुरी जड़ी थी. ये वही मैच था जिसमें गेल ने वनडे फॉर्मेट में अपना दोहरा शतक जमाते हुए 215 रन बनाए थे.

गेल के आउट होने के बाद शिमरॉन हेटमेयर ने भी अपने बल्ले की चमक दिखानी शुरू की. हेटमेयर ने भी तेज़-तर्रार पारी खेलते हुए सिर्फ 93 गेंद में 127 रन बनाकर ठोक दिए. हेटमेयर ने 14 चौके और चार छक्के जड़े. गेल और हेटमेयर के बीच 103 रन की साझेदारी हुई.

गेल और हेटमेयर की पारी के दम पर वेस्टइंडीज़ ने 50 ओवर में 4 विकेट खोकर 357 रन बनाए और यूएई के सामने जीत के लिए 358 रन का बड़ा लक्ष्य रखा.