एमएस धोनी को इंडिया सीमेंट्स द्वारा दिए गए ऑफर लेटर को लीक करने के बाद आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी ने बीसीसीआई के दो पूर्व अध्यक्षों एन श्रीनिवासन और अनुराग ठाकुर के खिलाफ हमला बोला है.

अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से शेयर की गई एक पोस्ट के जरिए ललित मोदी ने श्रीनिवासन और ठाकुर पर आरोप लगाया है कि इन दो पूर्व अध्यक्षों की वजह से बीसीसीआई को करीब 7300 करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान हुआ है.

मोदी ने इस पोस्ट में लिखा है कि श्रीनिवासन द्वारा चैंपियंस लीग टी20 को बंद करने और कोच्चि टस्कर्स केरल और पुणे वॉरियर्स की टीमों को आईपीएल से बाहर करने के फैसले से बोर्ड को करीब 1133 मिलियन डॉलर (7300 करोड़ रुपये) का नुकसान हुआ. इनमें चैंपियंस लीग टी20 को बंद करने से 500 मिलियन डॉलर और कोच्चि और पुणे की टीमों की डील रद्द करने से 633 मिलियन डॉलर के नुकसान की बात कही गई है.

इससे पहले ललित मोदी ने सोमवार को बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष और आईपीएल टीम चेन्नई सुपरकिंग्स के मालिक एन श्रीनिवासन की कंपनी इंडिया सीमेंट्स द्वारा धोनी को जारी किए गए ऑफर लेटर को लीक करते हुए कई सवाल उठाए थे.

इस ऑफर लेटर में धोनी को इंडिया सीमेंट्स में वाइस प्रेसिडेंट के पद पर नियुक्त किए जाने और हर महीने 43 हजार रुपये की बेसिक पे दिए जाने की बात लिखी हुई थी.  (ललित मोदी ने लीक किया धोनी को इंडिया सीमेंट्स से मिला ऑफर लेटर, उठाए कई सवाल)

ललित मोदी ने पूछा था कि आखिर क्यों साल में सैकड़ों करोड़ कमाने वाले धोनी को एन श्रीनिवासन का कर्मचारी बनना पड़ा. मोदी को 2010 में आईपीएल कमिश्नर के पद से बर्खास्त कर दिया गया था, उन पर मनी लॉन्ड्रिंग का केस चल रहा है और वह इस समय लंदन में हैं.