भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान और मौजूदा वक्‍त में बीसीसीआई चेयरमैन सौरव गांगुली को हल्‍का दिल का दौरा पड़ने के बाद फॉर्च्यून कुकिंग ऑयल कंपनी ने दादा से जुड़े अपने सभी विज्ञापनों को हटा दिया है. दादा की बीमारी के बावजूद लगातार आ रहे विज्ञापनों के चलते कंपनी को फैन्‍स सोशल मीडिया पर खूब ट्रोल कर रहे थे.Also Read - Harbhajan Singh ने चुनी अपनी ड्रीम टेस्ट टीम- स्टीव वॉ को कप्तानी, Sachin Tendulkar और Virender Sehwag भी शामिल

फॉच्‍यून की मुख्‍य कंपनी अडानी विलमार लिमिटेड है. कंपनी अपने उत्‍पाद को दिल के लिए अच्‍छा बताते हुए सौरव गांगुली के साथ ‘दादा बोले वेल्‍कम टू 40s’ के साथ दिखाती आ रही है. सौरव इस विज्ञापन में लोगों से पूछते हैं कि क्‍या 40 के बाद आप जीना छोड़ देते हैं ? Also Read - IND vs NZ- लय से भटक गए हैं Ishant Sharma, वापसी करने में कुछ टेस्ट मैच लगेंगे: बॉलिंग कोच Paras Mhambrey

इकनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी ने सभी प्‍लेटफॉर्म से सौरव गांगुली के साथ बनाए गए विज्ञापन हटा दिए हैं. विज्ञापन एजेंसी फिलहाल डैमेज कंट्रोल में जुटी है और इस संबंध में नया कैम्‍पेन चलाने की तैयारी में है. Also Read - IND vs NZ Test: पुजारा-रहाणे लय में लौटने से महज एक पारी दूर, गेंदबाजी कोच ने किया बचाव

अडानी विलमार लिमिटेड के कंपनी के सीईओ अंगशु मलिक ने कहा, “हमारा राइस-ब्रेन ऑयल दुनिया का सबसे बेस्‍ट ऑयल है. ये बैड कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद करत है. सौरव गांगुली हमारे ब्रांड अंबेस्‍डर बने और फॉर्च्‍यून राइस का विज्ञापन किया. कई अन्‍य कारण भी दिल से संबंधिम बीमारियों का कारण बनते हैं. सौरव गांगुली आगे भी हमारे साथ ऐसे ही जुड़े रहेंगे.”

सौरव गांगुली की अब स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है. उन्‍हें अस्‍पताल में मिलने वालों का तांता लगा हुआ है. माना जा रहा है कि एक दो दिनों में दादा को अस्‍पताल से छुट्टी मिल सकती है.