नई दिल्ली. कहते हैं लोग गलतियां करके सीखते हैं लेकिन श्रीलंकाई टीम के बिगड़ैल क्रिकेटर धनुष्का गुणतिलक हैं कि मानते ही नहीं. वो एक गलती के बाद दूसरी गलती करते दिख रहे हैं. यही वजह है कि वो फिर से सस्पेंड हो गए हैं. श्रीलंकाई बोर्ड ने टीम केे ओपनर धनुष्का गुणतिलक को साउथ अफ्रीका के खिलाफ फाइनल टेस्ट में उनके बुरे बर्ताव को लेकर क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से निलंबित कर दिया है. हालांकि, गुणतिलक के बुरे व्यवहार को लेकर कोई खुलासा नहीं हो सका है. बाएं हाथ के बल्लेबाज गुणतिलक ने कोलंबो में साउथ अफ्रीका के खिलाफ फाइनल टेस्ट की पहली पारी में 57 रन जबकि दूसरी पारी में 61 रन बनाए थे. लेकिन, अब निलंबन के बाद उन्हें मैच फी भी रोक दी गई है.

श्रीलंका का बिगड़ैल क्रिकेटर!

श्रीलंकाई बोर्ड ने कहा कि गुणतिलक को सस्पेंड करने का फैसला टीम मैनेजमेंट की जांच रिपोर्ट के बाद लिया गया जिसमें वो बुरे बर्ताव के दोषी पाए गए हैं. बता दें कि, क्रिकेट में गुणतिलक के बुरे बर्ताव का लंबा चौड़ा रिकॉर्ड हैै. दूसरे लहजे में कहें तो अपनी टीम के बिगड़ैल शहजादे हैं. इससे पहले बांग्लादेश के खिलाफ T20 सीरीज के दौरान उन्हें ICC लेवल 1 का दोषी पाया गया. वहीं, पिछले साल अक्टूबर में भारत के खिलाफ खेली घरेलू सीरीज के दौरान पहले उन्हें 3 मैच के लिए सस्पेंड किया गया बाद में इसी सजा में 6 मैच का बैन भी जोड़ दिया गया. इस वजह से गुणतिलक के सालाना कॉन्ट्रेक्ट में 20 फीसदी की कटौती की गई थी और उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ वनडे सीरीज में भी जगह नहीं मिली थी.

… गुणतिलक अकेले नहीं!

वैसे, गुणतिलक श्रीलंकाई टीम के सबसे बड़े बिगड़ैल क्रिकेटर जरूर हैं पर इकलौते नहीं हैं. उनके सस्पेंशन के दो दिन पहले ही श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने नाइट आउट करने के लिए अपने एक युवा क्रिकेटर जेफ्रे वेंडरसे के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए उसे एक साल के लिए बैन कर दिया है. वेंडरसे पर उनके सालाना अनुबंध का 20 फीसदी जुर्माना भी लगाया गया है. 1 साल के इस बैन का मतलब ये है कि अब वो 2019 का वनडे विश्व कप नहीं खेल सकेंगे. दरअसल, वेस्ट इंडीज दौरे पर सेंट लूसिया में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के खत्म होने के बाद जेफ्रे वेंडरसे नाइट क्लब गए थे और सुबह तक वापस नहीं लौटे थे. इस मामले में जेफ्रे वेंडरसे ने अपनी गलती स्वीकार भी कर ली है और अपने साथी खिलाड़ियों तथा श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड से गलती के लिए माफी मांगी है.

टीम के ‘मुखिया’ भी फंस चुके हैं

बता दें कि इससे पहले हाल ही श्रीलंकाई टीम के कप्तान और कोच भी बॉल टेम्परिंग जैसी बड़ी घटना को लेकर सुर्खियों में रहे थे.